CBSE एग्जाम पर बड़े फैसले का इंतजार, कुछ देर में पीएम मोदी की बड़ी बैठक

कोरोना की दूसरी लहर भारत में कहर मचा रही है। बीते 24 घंटे में अगर कोरोना के नए मामलों की बात करें तो अब तक से सबसे ज्यादा नए केस मिले हैं।24  घंटे में देश में 1.85 लाख से ज्यादा कोरोना के केस दर्ज किए गए हैं, जबकि 1000 से अधिक लोगों की जान चली गई है।
 
CBSE एग्जाम पर बड़े फैसले का इंतजार, कुछ देर में पीएम मोदी की बड़ी बैठक

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) कोरोना की दूसरी लहर भारत में कहर मचा रही है। बीते 24 घंटे में अगर कोरोना के नए मामलों की बात करें तो अब तक से सबसे ज्यादा नए केस मिले हैं।24  घंटे में देश में 1.85 लाख से ज्यादा कोरोना के केस दर्ज किए गए हैं, जबकि 1000 से अधिक लोगों की जान चली गई है।

21 दिन बाद यानी 4 मई से CBSE की बोर्ड परीक्षाएं शेड्यूल हैं। सीबीएसई के 10वीं और 12वीं क्लास के एग्जाम 4 मई से शुरू होंगे और 30 लाख से ऊपर स्टूडेंट्स बोर्ड एग्जाम देंगे। कोरोना के कहर के बीच अभिभावक और स्टूडेंट्स परीक्षा स्थगित करने की मांग कर रहे है तो सरकार भी एग्जाम को टालने पर विचार कर रही है।

इसे लेकर अब मंत्रालय लेवल पर मीटिंग का दौर चल रहा है। CBSE बोर्ड एग्जाम को टाला जाए या नहीं? आज दोपहर पीएम मोदी इसको लेकर एक बड़ी बैठक करने वाले हैं। इस बैठक में पीएम मोदी के साथ शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और अन्य अधिकारी भी शामिल होंगे। बोर्ड एग्जाम की तारीख बढ़ाने की संभावना तलाशी जा रही है। सीबीएसई के एक अधिकारी का कहना है कि अभी एग्जाम में तीन हफ्ते बाकी है, स्थिति की समीक्षा हो रही है।

सीबीएसई के लिए महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब समेत कई राज्यों में एग्जाम रखना बड़ी चुनौती है, क्योंकि इन कई राज्यों में खराब स्थिति की वजह से राज्य बोर्ड एग्जाम भी आगे खिसका दिए गए हैं। कोविड की दूसरी लहर में तेजी से बढ़ते मामलों के बीच सीबीएसई बोर्ड एग्जाम कैंसल करने के लिए दिल्ली के सीएम, डिप्टी सीएम मंगलवार को केंद्र सरकार से अपील कर चुके हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र सरकार ने भी राज्य बोर्ड के एग्जाम पोस्टपोन करने के साथ सीबीएसई, सीआईएससीई से एग्जाम का शेड्यूल बदलने की अपील की है।

From around the web