हरिद्वार | 5 साल बाद कुंभ में अपनों से मिली अर्धकुंभ में बिछड़ी महिला

कृष्णा देवी पत्नी ज्वाला प्रसाद ग्राम नदे पार पो. जोगिया उदयपुरय  जिला  सिद्धार्थ नगर उत्तर प्रदेश वर्ष 2016 में हरिद्वार में आयोजित अर्ध कुंभ मेले में स्नान के लिए घर से निकली थी, परंतु घर वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने उन्हें कई स्थानों पर तलाश किया लेकिन उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई।
 
हरिद्वार | 5 साल बाद कुंभ में अपनों से मिली अर्धकुंभ में बिछड़ी महिला

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट)  हरिद्वार कुंभ मेले में बनाया गया उत्तराखंड पुलिस का हाईटैक खोया पाया केन्द्र अपनों से बिछड़े लोगों के लिए लाभदायक साबित हो रहा है। यूं तो यह केन्द्र अब तक तकरीबन 400 लापता लोगों को उनके अपनों से मिलावा चुका है लेकिन बुधवार को केन्द्र के सामने एक आश्चर्यजनक घटना घटित हुई जिसमें एक महिला अपनों से अर्धकुम्भ  2016 में बिछुड़ी और अब कुंभ के दौरान त्रिवेणी घाट में अपनों से मिली।

कृष्णा देवी पत्नी ज्वाला प्रसाद ग्राम नदे पार पो. जोगिया उदयपुरय  जिला  सिद्धार्थ नगर उत्तर प्रदेश वर्ष 2016 में हरिद्वार में आयोजित अर्ध कुंभ मेले में स्नान के लिए घर से निकली थी, परंतु घर वापस नहीं लौटी तो परिजनों ने उन्हें कई स्थानों पर तलाश किया लेकिन उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई।

अब हरिद्वार कुंभ में बने खोया पाया केन्द्र ने कृष्णा देवी को उनके पुत्र दिनेशवर पाठक से संपर्क कर उसे कुंभ मेला पुलिस की सत्यापन प्रति दिखला कर उसकी माता जी के सही सलामत ऋषिकेश में निवासरत होने की सूचना दी।

खबर मिलते ही सभी हतप्रभ हो गए जिस की आस नहीं थी वो सम्भव हो गया। सूचना मिलते ही दिनेश्वर पाठक और उनकी पुत्री उमा उपाध्याय कुंभ मेला थाना ऋषिकेश पहुंचे। जहां  कृष्णा देवी को उनके सुपुर्द कर दिया। कृष्णा देवी ने अपने परिजनों को बताया कि गुमशुदगी के दौरान वह हरिद्वार, अयोध्या, मथुरा, वृदावन गंगोत्री, यमुनोत्री, बदरीनाथ, केदारनाथ आदि की यात्रा कर चुकी है।

From around the web