हरिद्वार कुंभ | खाली करवाई गई हर की पैड़ी, 22 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

महाशिवरात्रि के अवसर पर हरिद्वार में हर की पौड़ी पर शाही स्नान के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। तड़के से ही श्रद्धालु मां गंगा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। वहीं नागा-साधुओं के शाही स्नान के लिए आगमन को देखते हुए हर की पौड़ी क्षेत्र को अब खाली करवा लिया गया है। आईजी, कुंभ मेला संजय गुंज्याल ने बताया कि सुबह 8 बजे तक 22 लाख श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई है। 
 
हरिद्वार कुंभ | खाली करवाई गई हर की पैड़ी, 22 लाख श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) महाशिवरात्रि के अवसर पर हरिद्वार में हर की पौड़ी पर शाही स्नान के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा है। तड़के से ही श्रद्धालु मां गंगा में आस्था की डुबकी लगा रहे हैं। वहीं नागा-साधुओं के शाही स्नान के लिए आगमन को देखते हुए हर की पौड़ी क्षेत्र को अब खाली करवा लिया गया है। आईजी, कुंभ मेला संजय गुंज्याल ने बताया कि सुबह 8 बजे तक 22 लाख श्रद्धालुओं ने गंगा में आस्था की डुबकी लगाई है। 

आपको बता दें कि महाशिवरात्रि के दिन आज हरिद्वार में महाकुंभ का पहला शाही स्नान है, इसलिए आज जूना अखाड़ा, आह्वान अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा और किन्नर अखाड़ा करीब 11 बजे हर की पौड़ी ब्रह्मकुंड पर स्नान करने के लिए पहुचेंगे। इसके बाद निरंजनी अखाड़ा और आनंद अखाड़ा करीब 1 बजे हर की पौड़ी ब्रह्मकुंड पर स्नान करेंगे।

कोराना के चलते कुंभ की औपचारिक शुरुआत एक अप्रैल से होगी, लेकिन पहले शाही स्नान के लिए कोविड से बचाव की कुंभ मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) लागू हो गई है।

इसके अंतर्गत हरिद्वार आने वाले हर व्यक्ति को कुंभ मेला पोर्टल पर पंजीकरण और 72 घंटे पूर्व की कोविड निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। एसओपी लागू होने की अवधि से पहले हरिद्वार आकर होटलों, धर्मशाला और आश्रमों में ठहरने वाले लोगों की भी कोविड जांच की जाएगी। बॉर्डर और मेला क्षेत्र में 40 टीमें कोविड की रैंडम जांच भी करेंगी।

From around the web