BCCI ने बढ़ाई पूर्व क्रिकेटर्स की पेंशन, जानिए किसे मिलती है कितनी पेंशन

  1. Home
  2. Sports

BCCI ने बढ़ाई पूर्व क्रिकेटर्स की पेंशन, जानिए किसे मिलती है कितनी पेंशन

BCCI

सोमवार को BCCI ने पूर्व क्रिकेटर्स और पूर्व अंपायरों की मासिक पेंशन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी। बोर्ड के इस फैसले से पूर्व क्रिकेटर्स काफी खुश है।


 

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) सोमवार को BCCI ने पूर्व क्रिकेटर्स और पूर्व अंपायरों की मासिक पेंशन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी। बोर्ड के इस फैसले से पूर्व क्रिकेटर्स काफी खुश है।

पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ और लेग-स्पिनर अमित मिश्रा ने बीसीसीआई के इस घोषणा का स्वागत किया है। कैफ ने ट्विटर पर लिखा, 'धन्यवाद बीसीसीआई, यह सेवानिवृत्त खिलाड़ियों के लिए बहुत मायने रखता है। मेरे पिता मोहम्मद तारिफ पेंशन मिलने पर हमेशा बहुत खुश होते हैं। पैसा सुरक्षा देता है, पहचान आपको गौरवान्वित करती है। मेरे पिता ने 60 प्रथम श्रेणी मैच खेलकर 3000 के करीब रन बनाए, जिसमें 5 शतक शामिल रहे। उनके योगदान को याद करके, बीसीसीआई ने एक बड़ा दिल दिखाया है।'

अमित मिश्रा ने भी इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह एक उल्लेखनीय निर्णय है और कई अन्य बोर्ड भी इसका पालन करेंगे। मिश्रा ने लिखा, 'वाह, बीसीसीआई और जयशाह का शानदार फैसला। एक ऐसा फैसला जिसका कई विदेशी बोर्ड जल्द ही पालन करेंगे।'

आपको बता दें कि 2003 से पहले फर्स्ट क्लास से रिटायरमेंट लेने वाले क्रिकेटर, जिन्होंने 50-74 मैच खेल थे, उन्हें पहले 15000 रुपये मिलते थे। लेकिन अब संशोधित पेंशन के तहत उन्हें 30 हजार रुपये मिलेंगे। वे फर्स्ट क्लास क्रिकेटर्स जिन्होंने 75 या उससे ज्यादा मैच खेले थे और 2003 से पहले रिटायरमेंट लिया था, उनकी पेंशन राशि 22500 से बढ़ाकर 45000 हजार रुपये कर दिया गया है।

साल 2015 में बीसीसआई ने कहा था कि 31 दिसंबर, 1993 से पहले रिटायरमेंट लेने एवं 25 से अधिक मैच खेलने वाले सभी टेस्ट क्रिकेटरों 50,000 प्रति माह दिए जाएंगे। लेकिन नई नीति के तहत अब यह राशि बढ़ाकर 70,000 रुपये प्रति माह कर दी गई है। वहीं, 25 से कम टेस्ट खेलने वाले क्रिकेटर्स को  37500 रुपये मिलते थे, जो अब बढ़कर 60000 रुपये हो गया है।

वे महिला क्रिकेटर्स जिन्होंने 5-9 टेस्ट खेले थे, उनकी पेंशन राशि अब 15000 रुपये से बढ़कर 30000 रुपये हो गई। वही 10 या उससे ज्यादा टेस्ट खेलने वाली महिला क्रिकेटर्स को अब 22500 के बजाय 45 हजार रुपये का भुगतान किया जाएगा।