उत्तराखंड से बड़ी ख़बर | सीएम तीरथ को BJP आलाकमान ने अचानक दिल्ली बुलाया, क्या होने वाला है ?

मंगलवार को ही बीजेपी का रामनगर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर समाप्त हुआ है। चिंतन शिविर में 2022 के रोडमैप को लेकर एक खाका खींचा गया है। मंथन से जुलाई से लेकर दिसंबर तक के कार्यो की रूपरेखा तय की गई है।
 
TIRATH

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड से बड़ी ख़बर है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को पार्टी आलाकमान ने दिल्ली बुलाया है। मुख्यमंत्री रावत ने बुधवार के अपने सारे कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं और करीब 10:30 बजे वे दिल्ली के लिए रावना हो जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक, उपचुनाव को लेकर आलाकमान की मुख्यमंत्री से चर्चा होगी, साथ ही आगामी चुनाव से पहले दायित्व बांटने को लेकर भी चर्चा हो सकती है।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बने रहने के लिए तीरथ सिंह रावत का विधायक के रूप में चुना जाना जरूरी है। मार्च में जब उन्हें सीएम पद सौंपा गया था, तब वह सांसद के रूप में जनप्रतिनिधि थे। रावत ने कहा कि मैं इस बारे में फैसला नहीं करूंगा, पार्टी करेगी। दिल्ली तय करेगी कि मुझे कहां से चुनाव लड़ना है और मैं आदेश का पालन करूंगा।

           

वहीं मंगलवार को ही बीजेपी का रामनगर में तीन दिवसीय चिंतन शिविर समाप्त हुआ है। चिंतन शिविर में 2022 के रोडमैप को लेकर एक खाका खींचा गया है। मंथन से जुलाई से लेकर दिसंबर तक के कार्यो की रूपरेखा तय की गई है।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने बताया कि 70 विधानसभा में 70 पूर्णकालिकों की तैनाती होगी, जिनकी जिम्मेदारी बूथ और पन्ना स्तर तक तैयारी और समन्वय की होगी। प्रदेश की वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों पर भी गहन मंथन किया गया। चिंतन शिविर में पार्टी ने जुलाई के महीने से दिसंबर तक के कार्यक्रम जारी किए हैं।

जुलाई में जिले की कार्यसमिति होगी। सभी मंत्री जिला और मंडल स्तर पर भ्रमण पर जाएंगे। शक्ति केंद्र की बैठक भी जुलाई में होगी। बूथ की समिति के सत्यापन का कार्य और चुनाव का वॉर रूम भी जुलाई में बनेगा। पन्ना प्रमुख भी अगस्त तक बन जायेंगे. विधानसभा प्रभारी, चुनाव के लिए संचालक समिति, संयोजक सितम्बर तक बना दिये जायेंगे। सितम्बर में कार्यकर्ता जनता के बीच जाएंगे।

From around the web