कांग्रेस में बीजेपी विधायकों की एंट्री पर हरदा का ब्रेक! पूर्व CM ने किसे कहा महापापी ?

चुनावी साल में यशपाल आर्य की तो कांग्रेस में घर वापसी हो गई है लेकिन अब पूर्व सीएम हरीश रावत ने बड़ा बयान दिया है। हरदा ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस के वो बागी जो कांग्रेस में आना चाहते हैं उन्होंने महापाप किया था और जब तक वे उस महापाप के लिए माफी नहीं मांगते हैं तो उनकी वापसी मुश्किल है।
 
HARISH

 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) चुनावी साल में यशपाल आर्य की तो कांग्रेस में घर वापसी हो गई है लेकिन अब पूर्व सीएम हरीश रावत ने बड़ा बयान दिया है। हरदा ने साफ कर दिया है कि कांग्रेस के वो बागी जो कांग्रेस में आना चाहते हैं उन्होंने महापाप किया था और जब तक वे उस महापाप के लिए माफी नहीं मांगते हैं तो उनकी वापसी मुश्किल है।

हरदा से जब पूछा गया कि क्या बीजेपी विधायक उमेश काऊ की कांग्रेस में वापसी का आपने विरोध किया है और शामिल नहीं होने दिया तो हरदा ने बड़ी बात कही। हरीश रावत ने कहा कि जिस तरह से कुछ लोगों ने सरकार को सदन के पटल पर गिराया है यह एक कलंक पूर्ण घटना है उत्तराखंड में दंड दिया नहीं दिया लेकिन संसद में अटल बिहारी वाजपेयी ने जिसे महापाप कहा था।

ऐसे में ऐसे महापापी अगर कांग्रेस में आना चाहते है तो पहले अपने पाप को स्वीकार तो करें। पूर्व सीएम हरीश रावत बोले ये सवाल मेरी सरकार को गिराने का नही है उत्तराखंड के मूल्य और मान्यताओं को यहाँ के संसदीय मान्यताओं पर धब्बा है जो कुछ हुआ उस दिन और पैसे से हुआ तो ऐसे लोग एक बार खेद तो प्रकट करें, मैं रास्ते में नहीं आऊंगा लेकिन ऐसे लोग अगर कांग्रेस में प्रवेश कर रहे हैं तो मुझ जैसे व्यक्ति के लिए बहुत ही कठिन होगा।

दरअसल खबर ये है कि यशपाल आर्य और संजीव आर्य के सात उमेश काऊ भी कांग्रेस में शामिल होने के लिए दिल्ली आ रहे थे लेकिन पूर्व सीएम हरीश रावत ने राहुल गांधी के सामने विशेषकर विधायक उमेश शर्मा की वापसी का विरोध किया। हरदा ने कहा कि यशपाल आर्य व संजीव आर्य ने उनकी सरकार नहीं गिराई थी जबकि विधायक उमेश काऊ सरकार गिरने वाले विजय बहुगुणा गुट में शामिल रहे। सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी और हरीश रावत की बातचीत के बाद विधायक उमेश शर्मा की कांग्रेस में वापसी का निर्णय टालना पड़ा।

From around the web