उत्तराखंड कांग्रेस में बढ़ी रार, हरीश रावत से क्यों सहमत नहीं हैं प्रीतम सिंह?

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले बड़े फेरबदल के बाद कांग्रेस भले ही एकजुट होकर चुनाव लड़ने का दावा कर रही है लेकिन सच्चाई तो ये है कि कांग्रेस नेताओं में रार बढ़ती दिखाई दे रही है।
 
0000



देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट)
उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले बड़े फेरबदल के बाद कांग्रेस भले ही एकजुट होकर चुनाव लड़ने का दावा कर रही है लेकिन सच्चाई तो ये है कि कांग्रेस नेताओं में रार बढ़ती दिखाई दे रही है।

कांग्रेस इलेक्शन कैंपेन कमेटी के चेयरमैन और पूर्व सीएम हरीश रावत ने कुछ दिन पहले सत्ता में आते ही कुकिंग गैस पर 200 रुपये की सब्सिडी देने की घोषणा की थी, अब हरीश रावत के इस ऐलान पर नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने ही सवाल उठा दिए हैं।

नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने इस घोषणा को एक ऐसा हसीन ख्वाब करार दे दिया, जो पूरा नहीं हो सकता। नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि वह हरीश रावत की बात से सहमत नहीं हैं। प्रीतम सिंह का कहना है कि सिर्फ चुनाव के लिए ऐसा कोई सब्जबाग नहीं दिखाए जाने चाहिए, जो बाद में पूरा न हो सके। प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस अपना घोषणा पत्र जारी करेगी और उसमें जो बातें होंगी, कांग्रेस उन्हें पूरा भी करेगी।

हालांकि हरीश रावत अपने वादे पर अब भी टिके हैं और कह रहे हैं कि उनका वादा तार्किक है। हरीश रावत ने कहा कि मैंने पूरी कैलकुलेशन के बाद ही सब्सिडी की बात कही है और हम इसे पूरा भी करेंगे। रावत ने कहा कि यदि किसी को कोई शंका है, तो मैं उनकी शंकाओं का निराकरण करने के लिए तैयार हूं।

प्रीतम सिंह के बयान के बाद बीजेपी नेता और पूर्व सीएम विजय बहुगुणा ने भी हरदा पर निशाना साधा। बहुगुणा ने हरीश रावत के साथ अरविंद केजरीवाल पर भी वार करते हुए कहा- ये पॉलिटिक्स में करप्ट प्रैक्टिक्स है। सिर्फ चुनाव के लिए ऐसे वादे नहीं किए जाने चाहिए, जो पूरे ही न किए जा सकें। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पहले उन राज्यों में सिलेंडर पर 200 रुपये सब्सिडी दिलाए, जहां उनकी सरकारें हैं।

बहरहला चुनावी साल में वादों की बौछार करने में नेता कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं, ऐसे में देखना ये होगा कि उत्तराखंड की जनता किसके वादों पर एतबार करती है और सत्ता कि चाबी किस पार्टी को सौंपती है।

From around the web