उत्तराखंड | चुनावी मौसम में पोस्टर वार, इसलिए दर्ज हुआ मुकदमा दर्ज

उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों में पोस्टर वार शुरु हो गया है। कर्नल अजय कोठियाल को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करने के बाद आम आदमी पार्टी ने अब देहरादून में एक पोस्टर लगाया है, जिसके बाद इस पोस्टर पर विवाद हो गया है।
 
Poster
 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दलों में पोस्टर वार शुरु हो गया है। कर्नल अजय कोठियाल को मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित करने के बाद आम आदमी पार्टी ने अब देहरादून में एक पोस्टर लगाया है, जिसके बाद इस पोस्टर पर विवाद हो गया है।

दरअसल आम आदमी पार्टी ने जो पोस्टर लगाए हैं, उसमें कर्नल कोठियाल के साथ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की तस्वीर लगी है। पोस्टर में लिखा है कि उत्तराखंड का सीएम कौन हो ? देशभक्त फौजी या नेता। कर्नल कोठियाल की तस्वीर पर देशभक्त फौजी लिखा है तो मुख्यमंत्री धामी की तस्वीर पर नेता लिखा। धामी की तस्वीर के पीछे का बैकग्राउंड काला रखा है तो कर्नल कोठियाल की तस्वीर का बैकग्राउंड कलर में तिरंगे का कलर है।

इस पोस्टर को लेकर अब देहरादून में आप के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। बताया जा रहा है कि बिजली के खंभों और शहर में लगी स्ट्रीट लाइटों के खम्बों पर आम आदमी पार्टी ने होर्डिंग पोस्टर लगाये हैं, जिनके चलते बिजली विभाग और नगर निगम के अधिकारीयों ने थाना राजपुर, कोतवाली शहर और नेहरू कालोनी में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करवाया है।

वहीं सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल का कहना है कि सीएम पुष्कर धामी खुद एक सैनिक के बेटे हैं, बावजूद इसके सब जानते हैं कि किसकी क्या प्रासंगिकता है। उनियाल ने कहा कि ये आम आदमी पार्टी की घिनौनी मानसिकता है। उनियाल ने कहा कि पोस्टर से सीएम की छवि खराब हो रही है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व सीएम पद के उम्मीदवार कर्नल अजय कोठियाल का कहना है कि ये सब राजनैतिक षड्यंत्र उनके खिलाफ सत्ताधारी बीजेपी ने रचा है। आम आदमी पार्टी से अब बीजेपी की ये बौखलाहट है क्योंकि बिजली के खम्बों पर कई राजनैतिक पार्टियों के शुभकामना संदेश लगे हैं तो आज तक क्यों किसी पर कार्रवाई नहीं हुई। जहां तक रहा सीएम की छवि खराब का मामला वो आने वाला वक्त ही बताएगा। चुनाव में जनता तय करेगी कि किसकी छवि कैसी है।

From around the web