उत्तराखंड | सल्ट विाधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा ने घोषित किया उम्मीदवार

आपको बता दें कि विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के निधन के कारण विधानसभा की सल्ट सीट रिक्त हो गई थी। अब इसके उपचुनाव का कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। 17 अप्रैल को इस सीट पर उपचुनाव होगा।
 
उत्तराखंड | सल्ट विाधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा ने घोषित किया उम्मीदवार

सल्ट (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड से बड़ी खबर है। भारतीय जनता पार्टी ने सल्ट विधानसभा उपचुनाव के लिए अपने उम्मीदवार के नाम का ऐलान कर दिया है।

भाजपा ने स्वर्गीय विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के बड़े भाई महेश जीना पर दांव खेलते हुए उन्हें सल्ट विधानसभा उपचुनाव में मैदान में उतारने का फैसला लिया है। महेश जीना  भारतीय जनता पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ता रहे है और अब पार्टी ने उन पर भरोसा करके उन्हें मैदान में उतारा है।

बता दें कि, भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के निधन के कारण विधानसभा की सल्ट सीट रिक्त हो गई थी। इस उपचुनाव के लिए  23 मार्च से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 30 मार्च नाम वापसी का अंतिम दिन है, वहीं 31 मार्च को नामांकन की समीक्षा होगी। इसके बाद 17 अप्रैल को मतदान होगा और 2 मई को मतगणना होगी। उप-चुनाव के लिए सल्ट विधानसभा में कुल 136 बूथ बनाये गये हैं।

2017 विधानसभा चुनाव के नतीजे- साल 2017 के विधानसभा चुनाव की बात करें तो 95 हजार 735 में से सिर्फ 44044 मतदाताओं ने ही मतदान किया था।बीजेपी कैंडिडेट सुरेंद्र सिंह जीना को 21 हजार 581 और कांग्रेस प्रत्याशी गंगा पंचोली को 18 हजार 677 वोट मिले थे।  इस तरह सुरेंद्र सिंह जीना ने गीता पंचोली को 2904 मतों से हराया था यानी इस सीट पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर रही थी।

आपको बता दें कि सुरेंद्र सिंह जीना 2007, 2012 और 2017 में लगातार तीन बार सल्ट विधानसभा सीट से विधायक चुने गए थे लेकिन सितंबर 2020 में पत्नी की मौत के सदमे से बुरी तरह टूट चुके सुरेंद्र जीना खुद भी बाद में कोरोना की चपेट में आ गए, जिसके कारण नवंबर 2020 में उनकी मृत्यु हो गई। विधायक जीना की मृत्यु से उनकी ये सीट खाली हुई है।

From around the web