Uttrakhandpost 12 banner 1
Utkarshexpress 1234 banner 2

उत्तराखंड | चुनाव से पहले घमासान, रावत बोले- हरीश रावत को अपने कर्मों को देखना चाहिए

रंजीत रावत ने कहा कि हरीश रावत को अपने कर्मो को देखना चाहिए। उन्हें यह भी देखना चाहिए कि वो अपील क्या कर रहे हैं। रंजीत यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा कि हमारे यहां एक पत्ते में चावल का दाना रखने पर भी भगवान पुकार सुनते हैं लेकिन भगवान उन्हीं की सुनते हैं, जिनका मन साफ हो।

 
उत्तराखंड | चुनाव से पहले घमासान, रावत बोले- हरीश रावत को अपने कर्मों को देखना चाहिए
सल्ट (उत्तराखंड पोस्ट) सल्ट विधानसभा उपचुनाव के लिए 17 अप्रैल तो मतदान होना है। बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही दलों ने सल्ट में जीत के लिए पूरी ताकत लगा दी है। जीत दे दावे को बीजेपी और कांग्रेस दोनों पर रहे हैं लेकिन नेताओं की आपसी रार खत्म होने का नाम नहीं ले रही है।

अब हरीश रावत सल्ट में कांग्रेस उम्मीदवार के लिए प्रचार करने आज पहुंचने वाले हैं तो उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष और सल्ट के पूर्व विधायक रंजीत रावत ने पूर्व सीएम हरीश रावत को कठघरे में खड़ा करने की कोशिश की है।

रंजीत रावत का कहना है कि सल्ट विधानसभा के उपचुनाव में अपने गुट की गंगा पंचोली को जिताने के लिए भले ही हरीश रावत इमोशनल कार्ड खेल रहे हों, देवी-देवताओं तक का आह्वान कर रहे हों लेकिन हमारे देवता उसकी पुकार कैसे सुन सकते हैं, जिसने सत्ता बचाने के लिए उनकी बलि चढ़ाई हो।

रंजीत रावत ने कहा कि हरीश रावत को अपने कर्मो को देखना चाहिए। उन्हें यह भी देखना चाहिए कि वो अपील क्या कर रहे हैं। रंजीत यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा कि हमारे यहां एक पत्ते में चावल का दाना रखने पर भी भगवान पुकार सुनते हैं लेकिन भगवान उन्हीं की सुनते हैं, जिनका मन साफ हो।

दरअसल सल्ट के पूर्व विधायक रंजीत रावत उपचुनाव में अपने बेटे के लिए कांग्रेस से टिकट मांग रहे थे। कहा जा रहा है कि हरीश रावत की आलाकमान तक पहुंच के चलते रंजीत रावत के बेटे को टिकट नहीं मिला. जिसके बाद से ही रंजीत रावत खासे नाराज चल रहे हैं, यहां तक कि वो चुनाव प्रचार में भी नहीं गए हैं।

From around the web