उत्तराखंड | शादी के एक दिन पहले दूल्हा हुआ कोरोना पॉजिटिव, ऐसे हुई शादी

कोरोना महामारी का असर शादी समारोह पर भी दिख रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए समारोह में मेहमानों की संख्‍या को लेकर सरकार लगातार दिशा-निर्देश जारी कर रही है
 
उत्तराखंड | शादी के एक दिन पहले दूल्हा हुआ कोरोना पॉजिटिव, ऐसे हुई शादी

अल्मोड़ा (उत्तराखंड पोस्ट) कोरोना महामारी का असर शादी समारोह पर भी दिख रहा है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए समारोह में मेहमानों की संख्‍या को लेकर सरकार लगातार दिशा-निर्देश जारी कर रही है।

ऐसा ही एक मामला उत्तराखंड के अल्मोड़ा जिले से सामने आया है। यहां एक विवाह बेहद ही अनोखे तरीके से सम्पन्न हुआ। अल्मोड़ा के उमेश और लखनऊ की मंजू के बीच वीडियो कॉल के जरिए 7 फेरे लिए और पवित्र बंधन में बंधे। 

दरअसल उमेश और मंजू का विवाह 25 अप्रैल को होना तय हुआ था और दोनों के परिजन विवाह को लेकर खासे उत्साहित थे दोनों की घरों में तैयारियां चल रही थीं। लेकिन दुर्भाग्य से शादी से ठीक पहले ही उमेश की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आ गई जिसके बाद दूल्हे ने खुद को अपने घर में आइसोलेट कर लिया।

जब कोई चारा नहीं दिखा तो दोनों परिवारों ने ऑनलाइन विवाह करने की ठानी। मगर फिर भी दोनों का विवाह वर्चुअल तरीके से संपन्न हुआ। दोनों के विवाह में शादी की सभी रस्में वहीं रहीं बस जरिया बदल गया और कोसों मील दूर होते हुए भी दोनों विवाह के बंधन में बंध गए।

 वर एवं वधु दोनों पक्ष मोबाइल के जरिए एक दूसरे से जुड़े और पुजारी से सारी रस्में करवा कर शादी संपन्न करवाई। मंजू और उमेश दोनों एक-दूसरे से 450 किलोमीटर दूर थे और जूम एप्लीकेशन के जरिए दोनों ने विवाह किया। पुजारी ने मंत्र का पाठ किया और मंजू के गले में उसकी छोटी बहन ने मंगलसूत्र बांधा और उसके सिर पर सिंदूर लगाया। 3 घंटे के बाद दोनों का विवाह वर्चुअली ही सही मगर आधिकारिक तौर पर संपन्न हुआ।

 

दरअसल दुल्हन के परिजनों का कहना है उनके यहां यह परंपरा है कि शादी से पहले गणेश पूजा होती है और गणेश पूजा संपन्न होने के बाद शादी टालना अपशकुन माना जाता है और तय तारीख पर ही शादी की जाती। इसी वजह से दोनों परिवारों ने यह तय किया कि उमेश और मंजू का विवाह वर्चुअल तरह से संपन्न किया जाएगा।

From around the web