उत्तराखंड | यहां जंगली लिंगुड़े खाने से एक की मौत, 7 की हालत खराब

उत्तराखंड के चंपावत जिले से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। यहां जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर खटोली गांव में जंगली लिगड़े खाने से एक किशोर की मौत हो गई है बांकी 7 लोगों की तबीयत खराब हो गई उन्हें जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है जहां उनका उपचार चल रहा है।

 
sik

चंपावत (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के चंपावत जिले से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। यहां जिला मुख्यालय से 35 किलोमीटर दूर खटोली गांव में जंगली लिगड़े खाने से एक किशोर की मौत हो गई है बांकी 7 लोगों की तबीयत खराब हो गई उन्हें जिला अस्पताल भर्ती कराया गया है जहां उनका उपचार चल रहा है।

 

मिली जानकारी के अनुसार खटोली गांव के रहने वाले कमल सिंह और उनके भाई पान सिंह को उनके रिश्तेदार जंगली लिंगुड़ा देकर गए थे 8 जुलाई को दिन में कमल सिंह के परिवार ने और शाम को पान सिंह के परिवार ने जंगली लंगड़े बनाकर खाए। जिसके बाद कमल सिंह के पुत्र अंकित सिंह 11 वर्ष, संजय 17 वर्ष, पुत्री रिया 14 वर्ष की तबीयत खराब हो गई वही दूसरे भाई पान सिंह के परिवार में पत्नी शांति देवी 40 वर्ष, पुत्री सरोज 18 वर्ष, पुत्र भोला सिंह 13 वर्ष, उत्तम सिंह 22 वर्ष और पवन सिंह 16 वर्ष की तबीयत खराब हो गई।

जब आसपास के लोगों को पूरे परिवार के स्वास्थ्य खराब होने में पता चला तो उन्हें लगा कि कोई देवता का चक्कर है इस बीच पान सिंह के पुत्र पवन सिंह की तबीयत ज्यादा बिगड़ने लगी उसको उल्टी दस्त होने लगे तो ग्रामीणों ने झाड़-फूंक शुरू कर दिया लेकिन शाम को पवन की मौत हो गई। जिसके बाद तत्काल ग्रामीण और परिवारों के अन्य लोग उन्हें रात 1:30 बजे जिला अस्पताल लेकर पहुंचे जहां सभी को भर्ती कराया गया है जहां उनका उपचार चल रहा है।

From around the web