हरिद्वार | निरंजनी अखाड़े के कोरोना संक्रमित श्री महंत का हुआ निधन

 
हरिद्वार | निरंजनी अखाड़े के कोरोना संक्रमित श्री महंत का हुआ निधन

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। प्रदेश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। प्रदेश में एक बार फिर कोरोना का बहुत बड़ा विस्फोट हुआ है।

बुधवार को प्रदेश भर में कोरोना के 6054 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 168616 पहुंच गई है। वहीं 108 संक्रमित मरीजों की मौत हुई।

वही बुधवार को हरिद्वार में पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के श्रवणनाथ मठ के अध्यक्ष और एसएमजेएन पीजी कॉलेज प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्रीमहंत लखन गिरी की एम्स ऋषिकेश में निधन हो गया। श्रीमहंत लखन गिरि कोविड संक्रमित थे और पिछले 10 दिनों से एम्स ऋषिकेश में भर्ती थे।

पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के श्रीमहंत लखन गिरि को करीब 20 दिन में पहले बुखार और खांसी की शिकायत के बाद जगजीतपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनको एम्स ऋषिकेश भर्ती कराया गया था।

एम्स ऋषिकेश में बीते 10 दिनों से उनका इलाज चल रहा था। बुधवार को अचानक श्रीमहंत की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। डॉक्टरों के काफी प्रयासों के बाद भी शाम को उन्होंने दम तोड़ दिया। संत के ब्रह्मलीन होने से कुंभनगरी के संत समाज में शोक की लहर दौड़ गई।

पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के सचिव श्रीमहंत रविन्द्रपुरी ने बताया कि श्रीमहंत लखन गिरि अखाड़े के वृद्ध संत और अच्छे संत थे। कहा कि श्रीमहंत लखन गिरी त्याग और तपस्या की प्रतिमूर्ति थे। उन्होंने श्रीमहंत के कोविड संक्रमित होने की पुष्टि की है।

From around the web