उत्तराखंड | अस्थि विसर्जन के लिए आ पाएंगे सिर्फ 4 लोग, लागू हुई ये गाइडलाइन

उत्तराखंड में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। प्रदेश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मंगलवार को प्रदेश भर में कोरोना के 4785 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 295790 पहुंच गई है। वहीं 79 संक्रमित मरीजों की 24 घंटे में कोरोना से मौत हुई।
 
ash immersion

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। प्रदेश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। मंगलवार को प्रदेश भर में कोरोना के 4785 मामले सामने आए। इसी के साथ प्रदेश में कुल मरीजों की संख्या 295790 पहुंच गई है। वहीं 79 संक्रमित मरीजों की 24 घंटे में कोरोना से मौत हुई।

कोरोना के प्रभाव को रोकने के लिए उत्तराखंड में 25 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू है। कोरोना कर्फ्यू में प्रशासन ने अब सख्ती बढ़ा दी है। बाहरी राज्यों से आने वालों की बॉर्डर पर जांच शुरू कर दी है। इनमें अस्थि विसर्जन करने वाले लोग भी शामिल हैं।

अब उत्तराखंड के बाहर से हरिद्वार में अस्थि विसर्जन के लिए चार से अधिक लोग नहीं आ पाएंगे। आने से पहले पोर्टल पर पंजीकरण और 72 घंटे पूर्व आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट की अनिवार्यता होगी।

जिलाधिकारी सी रविशंकर ने कोविड कर्फ्यू में एसओपी के सख्ती से पालन कराए जाने के निर्देश जारी कर दिए हैं। जिलाधिकारी सी रविशंकर के मुताबिक बाहरी राज्यों से हरिद्वार अस्थि विसर्जन के लिए चार लोग ही आ पाएंगे। इनको भी पोर्टल पर पंजीकरण और 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी। रिपोर्ट नहीं होने पर बार्डर पर रैंडम सैंपल के बाद ही हरिद्वार में प्रवेश दिया जाएगा। सार्वजनिक एवं निजी वाहनों में कुल क्षमता के 50 फीसदी ही मान्य होगा। यानी अस्थि विसर्जन के लिए आने वाले चार लोगों को कार नहीं बल्कि आठ सीटर एसयूवी से आना होगा। 

From around the web