शर्मनाक | सुशीला तिवारी अस्पताल में मरीजों के मोबाइल चुराती थी सफाई कर्मी, ऐसे हुआ खुलासा

हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल से शर्मनाक खबर सामने आयी है। यहां काफी समय से यहां मरीजों और तीमरदारों के मोबाइल चोरी होने की खबरें मिल रही है। लेकिन अब एक हैरान करने वाला खुलासा हुआ है। अस्पताल के कोरोना वार्ड से मरीजों के चोरी हुए मोबाइल फोन महिला सफाई कर्मचारी के पास बरामद हुए हैं।
 
sth
 

हल्द्वानी (उत्तराखंड पोस्ट) हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल से शर्मनाक खबर सामने आयी है। यहां काफी समय से यहां मरीजों और तीमरदारों के मोबाइल चोरी होने की खबरें मिल रही है। लेकिन अब एक हैरान करने वाला खुलासा हुआ है। अस्पताल के कोरोना वार्ड से मरीजों के चोरी हुए मोबाइल फोन महिला सफाई कर्मचारी के पास बरामद हुए हैं।

सुशीला तिवारी के कोरोना वार्ड से मरीजों के फोन चोरी होने का कोतवाली पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया गया है। जिसमें छड़ायल निवासी महिला ने तहरीर में कहा है कि उसके पति रमेश सिंह को कोरोना संक्रमण के चलते बीती 8 मई को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 9 मई को पिता अस्पताल में उसके पति का हाल जानने गए थे। लेकिन उनका मोबाइल फोन चोरी हो गया। उसी वार्ड में भर्ती मुखानी निवासी भुवन का मोबाइल फोन भी चोरी कर लिया गया।

इसके बाद पुलिस ने छानबीन की तो अस्पताल में सफाई का काम करने वाली बनभूलपुरा निवासी सफाई कर्मचारी के कब्जे से दोनों मोबाइल फोन बरामद किये। जिसके बाद पुलिस महिला सफाई कर्मचारी से पूछताछ में जुटी हुई है। सुशीला तिवारी से लंबे समय से चोरी हो रहे मोबाइल फोन मामले में कुछ अन्य लोगों की संलिप्तता के बारे में बता रही है। महिला का कहना है कि मोबाइल फोन उसने नहीं चुराए, बल्कि किसी अन्य व्यक्ति से उसने ये फोन खरीदे हैं। ऐसे में अस्पताल परिसर से गायब हुए अन्य कई मोबाइल फोन के बारे में भी पूछताछ की जा रही है। जिसमें अन्य कई लोगों की मिलीभगत सामने आ सकती है।

From around the web