अब सामने आई धामी की हार की वजह! गांव वालों ने किया प्रायश्चित

  1. Home
  2. Uttarakhand
  3. Udhamsinghnagar

अब सामने आई धामी की हार की वजह! गांव वालों ने किया प्रायश्चित

DHAMI

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 2022 का विधानसभा चुनाव खटीमा से हार गए थे। लेकिन उन्हें एक बार फिर सीएम की कुर्सी सौंपी गई। अब धामी चंपावत से उपचुनाव लड़ेंगे। लेकिन इस बीच खटीमा से एक अलग तस्वीर निकलकर सामने आई है।


 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 2022 का विधानसभा चुनाव खटीमा से हार गए थे। लेकिन उन्हें एक बार फिर सीएम की कुर्सी सौंपी गई। अब धामी चंपावत से उपचुनाव लड़ेंगे। लेकिन इस बीच खटीमा से एक अलग तस्वीर निकलकर सामने आई है।

खटीमा में सैकड़ो ग्रामीणों ने धामी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए प्रायश्चित के रूप में सांकेतिक जल समाधि ली। ग्रामीणों का कहना था कि उनकी वजह से धामी जीत नहीं सके, इस बात का उन्हें ​दुख है इसलिए उन्होंने प्रायश्चित के रूप में सांकेतिक जल समाधि ली।

आपको बता दें कि इस सांकेतिक जल समाधि में आठ गांवों ऊंची बगुलिया, सिसैया, बंधा, मेलाघाट, खेलड़िया, ख़ैरानी, झाउपरसा के ग्रामीण बड़ी संख्या में इकट्ठे हुए, जिनमें महिलाए भी शामिल थीं।

बता दें कि ग्रामीणों ने धामी की हार का खुद को जिम्मेदार मानते हुए सांकेतिक रूप से जल समाधि के लिए प्रस्तावित कर 3 मई को खटीमा प्रशासन को अवगत करा दिया था कि 7 मई को कार्यक्रम को अंजाम दिया जाएगा। इसी क्रम में आज उक्त ग्रामों के सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने लगभग 2 घंटे 22 पुल शारदा नहर के जल में खड़ा होकर प्रायश्चित किया तथा मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व पर आस्था, आशा, विश्वास और श्रद्धा व्यक्त किया।

इस दौरान खटीमा एसडीएम रविंद्र बिष्ट, नायब तहसीलदार शुभांगिनी, सीओ भूपेंद्र सिंह भंडारी, झनकईया थानाध्यक्ष दिनेश फर्त्याल सहित पूरा प्रशासन और जल पुलिस के कर्मी भी मुस्तैद रहे ताकि सुरक्षा और शांति व्यवस्था बनी रहे।

सभी ने शारदा सागर डैम क्षेत्र में जल भराव रोकने और जमीन के मालिकाना हक की मांग मुख्यमंत्री से की। इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने दूरभाष के माध्यम से मौके पर ग्रामीणों को संबोधित किया तथा उनकी समस्याओं को सुनकर व भावनाओं को समझ कर रुके हुए सभी विकास कार्यों को सुचारु करने तथा समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया। वहीं ग्रामीणों ने शारदा सागर डैम में जलभराव से हो रही तबाही व बर्बादी, जमीन, रोड बिजली, पानी आदि की समस्याओं को भी लेकर अपनी बातों को रखा।

इस प्रदर्शन की सूचना मिलने पर धामी ने ग्रामीणों से फोन पर बात की और जल समाधि कार्यक्रम स्थगित करने की अपील की। धामी ने फोन पर इन ग्रामीणों से कहा, चुनाव परिणाम जो भी रहा, वह क्षेत्र के लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए उनके साथ हैं। शारदा सागर बंधा क्षेत्र की जो जमीन यूपी सरकार के अधीन है, उसको लेकर बीच का रास्ता निकालने की बात धामी ने कही।