ट्रेन में रात का सफर होगा महंगा ! यात्रियों को देना पड़ेगा ज्यादा किराया? 

दावा किया जा रहा है कि  रेलवे अपने सिस्टम में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के तहत जो यात्री ट्रेन में नींद लेकर सफर करना चाहते हैं, उनसे रेलवे 10 फीसदी अधिक किराया वसूल सकता है। इसको लेकर प्रस्ताव लाए जाने की बात भी कही जा रही है।  क्या ये दावा सही है ? आखिर इस दावे का सच क्या है ? आईए आपको बताते हैं।
 
ट्रेन में रात का सफर होगा महंगा ! यात्रियों को देना पड़ेगा ज्यादा किराया?

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) जमाना सोशल मीडिया का है, ऐसे में सोशल मीडिया में हर रोज हजारों- लाखों ख़बरें बहुत तेजी से वायरल होती हैं। वायरल फर्जी ख़बरों से उत्तराखंड पोस्ट आपको सावधान करता रहा है ताकि कभी आप इन फेक खबरों को शेयर कर मुसीबत में न फंस जाएं।

एक और खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि  रेलवे अपने सिस्टम में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के तहत जो यात्री ट्रेन में नींद लेकर सफर करना चाहते हैं, उनसे रेलवे 10 फीसदी अधिक किराया वसूल सकता है। इसको लेकर प्रस्ताव लाए जाने की बात भी कही जा रही है।  क्या ये दावा सही है ? आखिर इस दावे का सच क्या है ? आईए आपको बताते हैं।

ख़बर में किया जा रहा दावा: सोशल मीडिया पर एक मैसेज में दावा किया जा रहा है कि  रेलवे अपने सिस्टम में बड़ा बदलाव करने जा रहा है। इस बदलाव के तहत जो यात्री ट्रेन में नींद लेकर सफर करना चाहते हैं, उनसे रेलवे 10 फीसदी अधिक किराया वसूल सकता है। इसको लेकर प्रस्ताव लाए जाने की बात भी कही जा रही है।


 

सच क्या है ? -  PIB ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि जो यात्री ट्रेन में नींद लेकर सफर करना चाहें, रेलवे उनसे 10% अधिक किराया वसूल सकता है।' PIBFactCheck ने कहा कि यह दावा भ्रामक है। यह केवल Railway board को दिया गया एक सुझाव था।

न करें फॉरवर्ड- हो सकता है ये खबर आपके पास भी सोशल मीडिया के विभिन्न माध्यमों के जरिए पहुंची हो या हो सकता है भविष्य में आए। तो सावधान हो जाइए ये दावा पूरी तरह फर्जी है और इस पर यकीन न करें और न ही इसे आगे फारवर्ड करें।

ज्यादा से ज्यादा शेयर करें-  हां, इस खबर का जो सच हमने आपको बताया है, इसको जरुर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं ताकि लोग फर्जी खबरों के झांसे में न आएं और सच जान सकें।

From around the web