इस कंपनी के 19 लोगों में कोरोना संक्रमण, CMO ने इसलिए दर्ज कराई FIR

नोएडा (उत्तराखंड पोस्ट) नोएडा में कोरोना वायरस से 31 लोग संक्रमित हो चुके हैं। यहां की सीज फायर नाम की एक कंपनी के ही 11 कर्मचारियों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इसके लिए जिम्मेदार है कंपनी की आपराधिक लापरवाही, जिसकी वजह से उसके 11 कर्मचारियों समेत 19 लोग कोरोना वायरस के चपेट में हैं। कंपनी के खिलाफ अब केस दर्ज किया जा चुका है।

उत्तराखंड | लॉकडाउन में पूरी सैलरी नहीं दी और घर खाली करवाया तो दर्ज होगा मुकदमा

दरअसल नोएडा सेक्टर-135 स्थित सीज फायर कंपनी में बीते दिनों लंदन से एक ऑडिटर आया था। कंपनी ने इसकी जानकारी स्वास्थ्य विभाग से न सिर्फ छिपाई, बल्कि कर्मचारियों के बचाव के लिए भी जरूरी इंतजाम नहीं किए। ऑडिटर पास के ही एक फाइव स्टार होटल में भी ठहरा था। अब आलम यह है कि विदेशी ऑडिटर के जरिए कंपनी के कर्मचारियों में संक्रमण फैल चुका है। 11 कर्मचारियों के संक्रमित होने की पुष्टि हो चुकी है। इन कर्मचारियों के अलावा ऑडिटर के संपर्क में आने वाले 8 अन्य लोगों में भी संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है।

संक्रमित कर्मचारियों के परिजनों में भी संक्रमण की आशंका बढ़ चुकी है। इसी कंपनी के कर्मचारी के जरिए पड़ोस के जिले बुलंदशहर में कोरोना वायरस पहुंचा, आज वहां पहला मरीज मिला, ये इसी कंपनी का कर्मचारी है। अन्य कई लोग भी इसके जरिए संक्रमित हो गए हैं।

गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनुराग भार्गव ने सीज फायर कंपनी के खिलाफ एक्सप्रेसवे थाने में केस दर्ज कराया है। लंदन से आए ऑडिटर के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। यह FIR महामारी अधिनियम 1897 के तहत दर्ज कराई गई है।

कोरोना | अगर खांसी, जुकाम, बुखार हो तो तुरंत इस नंबर पर फोन करें

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                                

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost