5 लाख मुआवजे के लालच में सिर कटी लाश पर 3 लोगों ने जताया दावा, जानिए फिर क्या हुआ…

409

अमृतसर (उत्तराखंड पोस्ट) अमृतसर में हुए दर्दनाक रेल हादसे के 61 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी, इनमें से एक मृतक की पहचान अब तक नहीं हो पाई है। दरअसल इस शव का सिर बरामद नहीं हो पाया, जिस वजह से इसकी पहचान को लेकर मुश्किल आ रही है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि इस बिना सिर के शव पर कई लोगों ने अपनी दावेदारी जताई, इसके पीछे की वजह ये है कि पंजाब सरकार ने मृतकों के 5 लाख मुआवजा देने की घोषणा की तो पैसों के लालच में तीन लोगों ने इस शव पर अपनी दावेदारी जताई।

हालांकि इस शव की दावेादरी जताने के पहुंचे तीनों लोगों से जब पुलिस ने डीएनए की बात की तो ये वहां से रफू-चक्कर हो गए।

जीआरपी के एसएचओ ने बताया कि डीएनए मैच किए बिना इस मृतक का वारिस घोषित नहीं किया जाएगा। हादसे के बाद से ये शव जीआरपी के पास है। उन्होंने बताया कि काफी तलाश के बावजूद इस शव का सिर नहीं मिल पाया है। वहीं इस शव के पास से कोई ऐसा दस्तावेज भी नहीं मिला है जिससे उसकी शिनाख्त हो सके।

पुलिस ने शव का डीएनए टेस्ट करवा दिया है और उसके सैंपल लेकर सुरक्षित रख लिए हैं। फिलहाल ये शव किसका है और मृतक कहां का रहने वाला है, पुलिस इन सवालों के जवाब ढूंढने में लगी है।

सावधान ! SBI समेत इन 7 बैंकों के ग्राहकों के लिए जरुरी खबर, डाटा चोरी होने का खतरा

www.uttarakhandpost.com

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/

सरकार ने दी सौगात | लाखों कर्मचारियों के लिए दिवाली से पहले बड़ी खुशखबरी