उत्तराखंड | भाजपा नेता के पेट्रोल पंप से 33 लाख की लूट, PRD जवान समेत 6 गिरफ्तार

817

रुड़की (उत्तराखंड पोस्ट) रुड़की में भाजपा नेता के पेट्रोल पंप लूट में पुलिस ने लूट में शामिल पेट्रोल पंप कर्मचारी और पीआरडी जवान समेत छह बदमाशों को गिरफ्तार कर किया है।

पुलिस ने उनके पास से लूटी गई रकम से 23.50 लाख की नकदी, लूट में शामिल दो बाइकें, एक तमंचा और कारतूस बरामद हुआ है। पुलिस बाकी रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है।

एसएसपी जन्मेजय प्रभाकर खंडूड़ी ने मंगलवार को मंगलौर कोतवाली में भाजपा नेता ललित मोहन अग्रवाल के पेट्रोल पंप कर्मचारियों से हुई 33 लाख की लूट का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि दस जून को बाइक सवार बदमाशों ने पेट्रोल पंप कर्मचारी पवन चौहान और आमिर से गंगनहर रास्ते पर बाइक सवार चार बदमाशों ने आंखों में मिर्च पाउडर डालकर नोटों से भरा बैग छीन लिया था।

खुलासे के लिए पुलिस और सीआईयू की टीम को लगाया था। पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरों और सर्विलांस के जरिये बदमाशों की तलाश की जा रही थी। बदमाशों की तलाश के लिए टीम को मुजफ्फरनगर, देहरादून, सहारनपुर, बिजनौर समेत अन्य जिलों में भेजा गया था। पुलिस और सीआईयू की टीम को मुखबिर व सीसीटीवी कैमरों से अहम सुराग हाथ लगे।

सोमवार रात मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रोशनाबाद स्थित पुराने सिनेमाघर के पास से राकेश पाल निवासी मिलापनगर, ढंडेरा, रुड़की, जितेंद्र निवासी ग्राम तुगलपुर निवासी कमेड़ा, थाना पुरकाजी, मुफ्फरनगर, वीर सिंह, रामवीर सिंह निवासी ग्राम बड़कली, मुजफ्फरनगर को गिरफ्तार कर लिया।

चारों से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपने दो साथी पीआरडी जवान सुनील कुमार उर्फ सोनू और पेट्रोल पंप के कर्मचारी अनुज निवासी मोहनपुरा, रुड़की के नाम बताए। पुलिस ने इन दोनों को भी गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने बताया कि रामवीर सिंह और जितेंद्र सिंह पर पुराने आपराधिक मामले चल रहे हैं।

एसएसपी ने बताया कि पेट्रोल पंप कर्मचारी अनुज ने राकेश, जितेंद्र, वीर सिंह और रामवीर के कहने पर पेट्रोल पंप की तीन दिन पहले रेकी की थी। इसके बाद उसने लूट में अपने गांव निवासी पीआरडी के जवान सुनील कुमार को भी शामिल कर लिया। दस जून को अनुज ने सुनील को सूचना दी कि दो कर्मचारी मोटी रकम लेकर गंगनहर के रास्ते से जा रहे हैं। इसके बाद सुनील ने राकेश, जितेंद्र, वीर सिंह और रामवीर को इसकी जानकारी दी। एसएसपी ने बताया कि चारों रोशनाबाद स्थित एक कंपनी में काम करते हैं और वहीं किराये पर कमरा लेकर रह रहे थे। जानकारी मिलने पर चारों लोग दो बाइकों पर सवार होकर मंगलौर गंगनहर की पटरी पर पहुंचे और लूट की वारदात को अंजाम दिया।

लूटपाट के बाद बदमाशों ने पकड़े जाने के डर से नोटों से भरा बैग और तमंचा तांशीपुर के पास श्मशान घाट में छिपा दिया था। यहीं उन्होंने अपने कपड़े भी बदले और चले गए। इसके बाद चारों रोशनाबाद पहुंचे। फिर रात को ही दोबारा तांशीपुर श्मशान घाट पहुंचे और लूट का बैग अपने साथ रोशनाबाद ले गए।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost         

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost