कुदरता का विकराल रूप | चट्टान की चपेट में आने से 8 साल की बच्चे की मौत

अल्मोड़ा (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड में कुदरत अपना विकराल रूप दिखा रही है। बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ में भूस्खलन होने से फिर बंद हो गया है। थल मुनस्यारी मार्ग पर दरारें पड़ गई हैं। वहीं पिथौरागढ़ तवाघाट हाईवे कालिका के पास बह गया है। इस बीच बड़ी खबर मिली है कि अल्मोड़ा जिले में जौरासी के सोगड़ा गांव में चट्टान से गिरे पत्थरों की चपेट में आने से एक बच्चे की मौत हो गई। बताया गया कि बच्चा अपनी मां के साथ ननिहाल आया था।

जानकारी के मुताबिक चौखुटिया तहसील के अंतर्गत ग्राम पंचायत छिताड़ के कोरणी निवासी योगेश सिंह (8) पुत्र भूपेंद्र सिंह अपनी मां गीता देवी के साथ ननिहाल स्याल्दे तहसील के सोगड़ा गया था। शुक्रवार की शाम करीब साढे़ पांच बजे वह अपनी मां के साथ पानी भर रहा था। इसी दौरान वह पहाड़ी से गिरे बोल्डरों और मलबे की चपेट में आ गया।

मौके पर ग्रामीणों ने मलबे में दबे शव को बाहर निकाला। देर रात पहुंचे राजस्व कर्मियों ने मौके पर ही शव का पंचनामा भरा। इसके बाद शनिवार की सुबह शव को सीएचसी चौखुटिया लाया गया जहां मृतक बच्चे का पोस्टमार्टम किया गया।  बताया गया कि बच्चे के सिर और गर्दन में काफी चोट थी।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here