बच्चों की हिम्मत के आगे दुम दबाकर भागा भालू

खटीमा में छोटे भाई को भालू से बचाने के लिए बड़ा भाई ने जान की बाजी लगा दी। दो भाईयों की हिम्मत के आगे आखिरकार भालू को दुम दबाकर भागना पड़ा।

जानकारी के अनुसार खटीमा में वन विभाग की जौलवासाल रेंज के जंगल से सटे दिया निवासी त्रिलोकी राम के बेटे राकेश (12 वर्ष) व मुकेश (10 वर्ष) मवेशियों को पानी पिलाने के लिए कामन नदी के पास गए हुए थे। इसी बीच उनके सामने अचानक भालू आ गया और उसने मुकेश पर हमला कर दिया।

BEAR ATTACK

छोटे भाई पर हमला होते देख राकेश ने उसे बचाने को भालू पर पत्थर बरसाए। इस पर भालू ने मुकेश को छोड़ दिया और राकेश पर हमला कर दिया। तभी मुकेश बुरी तरह घायल होने के बावजूद राकेश को बचाने के लिए भालू पर पत्थरों से हमला करता रहा। दोनों भाइयों के हमले से भालू घबराकर जंगल की ओर भागने लगा।

इस बीच उधर से गुजर रही इसी गांव की महिला कन्यावती (45 वर्ष) पत्नी विक्रम सिंह भालू के सामने आ गई। भालू ने उस पर भी हमला कर दिया। तभी दोनों भाइयों ने भालू पर पत्थरों को बरसात जारी रखी और उसे भागने पर मजबूर कर दिया। तीनों घायलों को उपचार के लिए खटीमा अस्पताल में भर्ती कराया गया।