नोटबंदी के बाद उत्तराखंड में इतने खातों में जमा हुआ कालाधन

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो) नोटबंदी के दौरान उत्तराखंड में बैंक खातों में 500 व 1000 रुपये के पुराने नोटों के रूप में कालाधन जमा करने का आंकड़ा 400 खातों से बढ़कर 1627 हो गया है। 3255 बैंक खातों की जांच में यह बात सामने आई। इनमें से 3245 खातों का ब्योरा सीबीडीटी (केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड) को भेज दिया गया है। जबकि 10 खातों का ब्योरा भेजा जाना अभी बाकी है।

इसमें खास बात यह भी कि 90 फीसद कालाधन देहरादून, हरिद्वार, ऊधम सिंह नगर व नैनीताल (विशेषकर हल्द्वानी क्षेत्र) जैसे जनपदों में जमा किया गया।

जागरण की खबर के अऩुसार उत्तराखंड के मुख्य आयकर आयुक्त पीके गुप्ता के मुताबिक नोटबंदी के दौरान खातों में जमा धन पर सीबीडीटी ने उत्तराखंड के 3255 खातों को चिह्नित कर उनकी जांच के निर्देश दिए थे। इन खातों में 414 खाते ऐसे हैं, जिनमें एक करोड़ व इससे अधिक राशि जमा की गई है। जबकि 600 खाते हैं, जिनमें 50 लाख व इससे अधिक की राशि जमा कराई गई। इसके अलावा शेष खातों में 2.5 लाख से 50 लाख रुपये के बीच की राशि जमा किए गए।

प्रारंभिक जांच में पता चला था कि करीब 400 खातों में कालाधन धन यानी अघोषित आय जमा कराई गई है। जबकि 15 मार्च तक एडवांस टैक्स के रूप में जमा कराई गई राशि से स्पष्ट हो गया कि 1627 खातों में कालाधन जमा कराया गया है। इस निष्कर्ष तक पहुंचने के लिए बड़ी संख्या में खाताधारकों के तीन साल से अधिक के रिटर्न भी खंगाले गए।

अब ऐसे खाताधारकों पर सर्वे तेज किए जाएंगे। साथ ही इन्वेस्टिगेशन विंग को भी सूचित किया जाएगा, ताकि वह अपने स्तर पर रेड की कार्रवाई भी कर पाएं।

(उत्तराखंड पोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)