उत्तराखंड | दो वाहनों पर गिरे बोल्डर,11 लोग बाल-बाल बचे, सहमें यात्री गाड़ियां छोड़ भागे

देवप्रयाग (उत्तराखंड पोस्ट) बारिश ने पहाड़ो पर आवाजाही को बड़ा खतरा बना दिया है। हर रोज भुस्खलन से सड़क धसने की खबरें मिल रही है। इस बीच रविवार को ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर साकनीधार के पास भूस्खलन होने से दो वाहनों पर बोल्डर गिर गए। इस दौरान वाहनों में सवार 11 लोग बाल-बाल बचे।

बोल्डर गिरने से दोनों वाहन बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। मलबा गनीमत रही कि मलबा आने से पहले ही खतरे को देखते हुए छोटे वाहनों में सवार लोग पहले ही वाहन छोड़ चुके थे। इस बीच यहां लगभग दो घंटे यातायात अवरुद्ध भी रहा।

जानकारी के मुताबिक देवप्रयाग से करीब 17 किलोमीटर दूर साकनीधार के पास रविवार को ऑल वेदर रोड परियोजना का काम चलने की वजह से यहां यातायात रुक रुककर चल रहा था। इससे यहां जाम की स्थिति बनी हुई थी। दोपहर करीब यहां पहाड़ी से भूस्खलन शुरू हो गया। बोल्डर गिरने पर वाहनों में सवार लोग वाहन छोड़कर सुरक्षित स्थान की ओर भाग निकले। इसके तुरंत बाद पहले एक कार और फिर एक टैक्सी कैब बोल्डर की चपेट में आने से बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई।

बताया गया कि एक वाहन गोपेश्वर और दूसरा वाहन पौड़ी से देहरादून जा रहा था। गोपेश्वर से चली टैक्सी कैब में पंचायत राज विभाग के छह कर्मचारी सवार थे, जबकि कार में 5 मनरेगा कर्मी सवार थे। वाहन चालकों के मुताबिक सभी लोग वाहनों के अंदर बैठकर जाम खुलने का इंतजार कर रहे थे। इसी दौरान पत्थरों की गिरने की आवाज सुनाई दी, जिस पर उन्होंने अंदर बैठे लोगों को उतरकर दूर भागने को कहा। जैसे ही वह बाहर निकले, बड़े-बड़े पत्थर वाहनों के ऊपर गिर गए।

Youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost    

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                              

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost