पिथौरागढ़ को 209 करोड़ की सौगात, 34 योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

पिथौरागढ़ (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत मंगलवार को पिथौरागढ़ जिले के भ्रमण पर पंहुचे। इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र द्वारा 209 करोड़ 81 लाख 40 हजार रुपये की लागत की 34 विकास योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया गया। जिसमें 119 करोड़ 77 लाख 43 हजार की कुल 8 योजनाओं का लोकार्पण तथा 90 करोड़ 3 लाख, 97 हजार रुपये की कुल 26 योजनाओं का शिलान्यास किया गया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित पोषण माह का शुभारम्भ कर अति कुपोषित बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने हेतु ऊर्जा (विभिन्न खाद्यान्न सामग्री का मिश्रण) का वितरण किया गया। इस अवसर पर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनांतर्गत बालिका शिक्षा प्रोत्साहन वितरण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए हाईस्कूल तथा इंटर मीडिएट में सर्वाधिक अंक लाने वाली बालिकाओं को 10-10 हजार धनराशि वितरित की गई साथ ही मुख्यमंत्री जी द्वारा जिले की वनराजी जाति की प्रथम बालिका जानकी पुत्री हयात सिंह निवासी कूटा चोरानी जिनके द्वारा इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण कर स्नातक की कक्षा में प्रवेश लिया गया है उन्हें भी 5 हजार रुपये की धनराशि देकर सम्मानित किया गया।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा जनपद के विद्यालयों में संचालित एनीमिया जांच कार्यक्रम का भी शुभारंभ किया गया। जिले के भ्रमण पर पंहुचे प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा विकास भवन सभागार पिथौरागढ़ में जिलास्तरीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा की गई। विभागवार विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि विभाग का लक्ष्य मात्र शत प्रतिशत धनराशि व्यय करने का न होकर मुख्य उद्देश्य यह होना चाहिए कि, व्यय धनराशि का शत प्रतिशत लाभ जनता को मिले और धनराशि का सही सदुपयोग हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्धारित लक्ष्य के तहत गुणवत्ता युक्त कार्य करते हुए निर्धारित समय से पूर्व विकास कार्यों को पूर्ण कराएं, ताकि जनता को समय पर सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा पिथौरागढ़ जिले में जल संचय अभियान एवं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के अंतर्गत बेहतर कार्य किए जाने पर जिलाधिकारी एवं जिले की टीम को बधाई दी। उन्होंने जनपद में स्थानीय उत्पादों को बढ़ावा दिए जाने के अतिरिक्त स्वरोजगार मुहैय्या कराए जाने हेतु वर्तमान में संचालित कुल 6 ग्रोथ सेंटरों को और अधिक बढ़ाए जाने हेतु प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक की पूर्ण रोकथाम हेतु राष्ट्रीय स्तर पर जो अभियान माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में चलाया जा रहा है उसे शत प्रतिशत सफल बनाने हेतु जनसामान्य का इसमें सहयोग लिया जाय। उन्होंने जिलाधिकारी को निर्देश दिए कि प्लास्टिक पर पूर्ण रोकथाम हेतु लगातार सख्ती से कार्य किया जाय। उन्होंने कहा कि राज्य में किसानों की आय बढ़ाने हेतु प्राथमिकता से कार्य किए जा रहे हैं।

उन्होंने पिथौरागढ़ जनपद में कलस्टर के रूप में इसका उत्पादन कराए जाने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहॉ के तिमूर की भी अत्यधिक मांग है इसे भी बढ़ाया जाय, ताकि अधिक से अधिक किसानों की आय का साधन तिमूर बन सके। उन्होंने जिले में खेल गतिविधियों को और अधिक बढ़ावा दिए जाने के क्षेत्र में भी कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक में सिंचाई विभाग की समीक्षा के दौरान जिला मुख्यालय के निकट निर्माणाधीन थरकोट झील के निर्माण कार्य के संबंध में कहा कि शीघ्र की स्थानीय काश्तकारों की भूमि के मुआवजे की धनराशि वितरित करें, अतिरिक्त जो भी धनराशि की आवश्यकता है वह शीघ्र ही जारी कर दी जाएगी उन्होंने विभाग को निर्देश दिए कि थरकोट झील का निर्माण दिसंबर 2020 में पूर्ण करने हेतु तेजी से दो-दो चरणों (दोनों सिफ्टों) में  कार्य कराया जाय।

उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क निर्माण का कार्य  गुणवत्तापूर्वक समय पर पूर्ण कर लिये जाय। उन्होंने कहा कि वन भूमि हस्तांतरण के जो भी प्रकरण जनपद में हों उनमें जनपद स्तर पर कार्यवाही पूर्ण करते हुए शासन को भेजा जाय। बैठक में चिकित्सा विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जिला मुख्यालय में निर्माणाधीन बेस चिकित्सालय तथा नर्सिंग कॉलेज के निर्माण की प्रगति की जानकारी देते हुए कहा कि बेस चिकित्सालय में लगभग 50 तथा नर्सिंग कॉलेज में 80 फीसदी कार्य हो गया है, कार्य तेजी से किए जा रहे हैं। जिलाधिकारी ने मुख्यमंत्री के समक्ष जिला चिकित्सालय में एक रेडियोलॉजिस्ट की तैनाती की मांग रखी गई।

बैठक में विधायक डीडीहाट विशन सिंह चूफाल द्वारा शक्तिपुर-बगना, जौलजीबी-झूलाघाट मोटर मार्ग व गरखा पेयजल योजना समेत विभिन्न योजनाओं तथा विधायक गंगोलीहाट मीना गंगोला द्वारा बेलपट्टी व बासुकीनाग पेयजल योजना समेत अपने विधानसभा क्षेत्र की विभिन्न योजनाओं के निर्माण से सम्बंधित बात रखी गई। इसके अतिरिक्त अध्यक्ष कुमाऊं मण्डल विकास निगम केदार जोशी द्वारा बड़ाबे-धारी-क्वारब मोटर मार्ग निर्माण, पिथौरागढ़ गोरख किला में संग्रहालय खोले जाने समेत विभिन्न मामले मुख्यमंत्री जी के समक्ष रखे गए। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी वन्दना द्वारा पीपीटी के माध्यम से जिले में संचालित विभिन्न परियोजनाओं, विकास कार्यों, नूतन अभिनव प्रयास तथा विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी से मुख्यमंत्री को अवगत कराया।इस दौरान परियोजना प्रबधक एकीकृत आजीविका परियोजना कुलदीप बिष्ट द्वारा योजनांतर्गत जिले के तीन विकास खण्डों में आजीविका के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी गई।

बैठक से पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा 8 योजनाओं का लोकार्पण किया गया जिसमें विधानसभा क्षेत्र गंगोलीहाट अंतर्गत अस्याली में 4 करोड़ 14 लाख 72 हजार रुपये की लागत से लोक निर्माण विभाग द्वारा निर्मित पैदल पुल, जौलजीवी-मुन्स्यारी मोटर मार्ग अंतर्गत संगलतड़ में 3 करोड़ 52 लाख 12 हजार रुपये से गोरी नदी में निर्मित झूलापुल, एडीबी लोक निर्माण विभाग द्वारा सातशिलिंग-थल मोटर मार्ग में 53 करोड़ 60 लाख 98 हजार की लागत से कुल 49.61 किमी सड़क का सुधारीकरण आदि कार्यों के साथ ही चंडाक बांस मोटर मार्ग में 10 करोड़ 53 लाख 72 हजार की लागत से सड़क सुधारीकरण कार्य, बांस-आवलघाट मोटर मार्ग अंतर्गत 8 करोड़ 90 लाख 78 हजार रुपये की लागत से कराए गए सुधारीकरण के कार्य, सानदेव-मुवानी मोटर मार्ग अंतर्गत 20 करोड़ 79 लाख 33 हजार रुपये की लागत से कराए गए कार्य, इसी प्रकार एडीबी लोक निर्माण विभाग द्वारा ही 17 करोड़ 18 लाख 78 हजार रुपये से राइआगर-सिंगोली मोटर मार्ग में कराए गए कार्यों तथा 1 करोड़ 7 लाख रुपये से ग्राम्य विकास विभाग द्वारा निर्मित विकास खण्ड कार्यालय मूनाकोट भवन का लोकार्पण किया गया।

इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री द्वारा विभिन्न विभागों द्वारा बनाई जाने वाली कुल 26 योजनाओं का शिलान्यास किया गया।जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदण्डे ने मुख्यमंत्री को जिले में संचालित विकास कार्यों की प्रगति से अवगत कराया। जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में वर्तमान तक जिला, राज्य, केन्द्र तथा बाह्य सहायतित योजना में प्राप्त धनराशि के सापेक्ष कुल 61 फीसदी धनराशि व्यय कर ली गई है। जिला योजना में 42, राज्य में 56, केन्द्र में 86 तथा बाह्य सहायतित योजना में शत प्रतिशत धनराशि व्यय कर ली गई है।बैठक में अध्यक्ष कुमाऊं मण्डल विकास निगम केदार जोशी, अध्यक्ष राज्य सलाहकार परिषद श्रम बोर्ड, शमशेर सत्याल, विधायक डीडीहाट विशन सिंह चूफाल, गंगोलीहाट मीना गंगोला, पुलिस अधीक्षक आर सी राजगुरु, मुख्य विकास अधिकारी व जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।


.Youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here