छुआछूत से बड़ा कोई पाप नही है: मुख्यमंत्री रावत

80

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को विधानसभा भवन में बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के 63वें महा परिनिर्वाण दिवस के अवसर पर आयोजित श्रद्वांजलि सभा में प्रतिभाग किया।

मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर ने संविधान निर्माण व छुआछूत की मुक्ति के लिए उल्लेखनीय व अविस्मरणीय योगदान दिया है। छुआछूत से बड़ा कोई पाप नही है। छुआछूत की समाप्ति के लिए सामाजिक आन्दोलन किए गए तथा सविंधान में भी व्यवस्था की गई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महापुरूषों को किसी वर्ग विशेष तक सीमित नही किया जाना चाहिए। महापुरूष सभी के होते है। देश की एकता में अम्बेडकर का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचन्द अग्रवाल, कैबिनेट मंत्री  मदन कौशिक, धन सिंह रावत, विधायक  देशराज कर्णवाल, खजान दास, मुन्नी देवी शाह व विधानसभा भवन के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित आदि उपस्थित थे।

Follow us on twitter – https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/