जानिए कांग्रेस के लिए क्यों हानिकारक हो सकता है धनोल्टी में सरेंडर करना !

धनोल्टी विधानसभा में कांग्रेस के सरेंडर करने के बाद यहां से कांग्रेस से पर्चा भरने वाले कांग्रेस नेता मनमोहन मल्ल ने पार्टी के खिलाफ बगावत के संकेत दिए हैं।

अब ख़बरें एक क्लिक पर इस लिंक पर क्लिक कर Download करें Mobile App –https://play.google.com/store/apps/details?id=app.uttarakhandpost

धनोल्टी में निर्दलीय प्रत्याशी प्रीतम पंवार को समर्थन देने के पार्टी आलाकमान के फैसले के बाद मनमोहन पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

धनोल्टी से कांग्रेस द्वारा निर्दलीय प्रीतम पंवार को समर्थन देने को मनमोहन मल्ल ने अपने खिलाफ साजिश करार दिया है। मनमोहन मल्ल ने कहा कि उनके साथ बड़ी साजिश हुई है जिससे धनोल्टी क्षेत्र के कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का मनोबल टूटा है।

manmohan-mall

पार्टी सिंबल पर चुनाव लड़ने की जिद ठान कर बैठे मनमोहन मल्ल ने अदालत में जाने की भी चेतावनी दी है। साथ ही कहा है कि पीडीएफ में तो बीएसपी समेत आधा दर्जन लोग सरकार के सहयोगी रहे हैं। ऐसे मे सिर्फ धनोल्टी क्षेत्र में ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं का मनोबल क्यों तोड़ा जा रहा है। मल्ल की माने तो वे कांग्रेस के सिंबल पर ही धनोल्टी से चुनाव लड़ेगे।