बागियों के लिए जागा किशोर का प्रेम, बोले कांग्रेस में स्वागत है

18 मार्च 2016 को अपने ही सरकार को घुटने बल बिठाने वाले बागियों के लिए कांग्रेस ने चुनावी घड़ी में अपने दरवाजे खोल दिए हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने ऐलान करते हुए कहा है कि बागी अगर वापस कांग्रेस में आना चाहते हैं तो उनके लिए हमारे दरवाजे खुले हैं। गौरतलब है
 

18 मार्च 2016 को अपने ही सरकार को घुटने बल बिठाने वाले बागियों के लिए कांग्रेस ने चुनावी घड़ी में अपने दरवाजे खोल दिए हैं। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने ऐलान करते हुए कहा है कि बागी अगर वापस कांग्रेस में आना चाहते हैं तो उनके लिए हमारे दरवाजे खुले हैं।

गौरतलब है कि कुछ इसी तरह की बात सूबे के मुखिया भी कुछ दिन पहले कह चुके थे। हालाकि उस वक्त सीएम ने कहा था कि एक को छोड़कर बाकी लोग कांग्रेस में वापस आना चाहें तो आ सकते हैं। किस एक बागी की सीएम कांग्रेस मे वापसी नहीं चाहते इसका सीएम ने आज तक खुलासा नहीं किया।

वहीं किशोर उपाध्याय ने कहा है कि अगर मुख्यमंत्री एक बागी की वापसी नहीं चाहते तो उन्होंने भी सोच-समझकर कहा होगा। अब ऐसे में सवाल उठता है क्या कांग्रेस के बागी वापस लौटेंगे और अगर लौटेंगे तो क्या एक उस साथी को छोड़ दिया जाएगा जिसे लेकर सीएम की नाराजगी आज तक बरकरार है।

सवाल ये भी है कि आखिर बागियों को लेकर तमाम तीखे बयान देने के बावजूद कांग्रेस ने अपने दरवाजे क्यों खोल दिए हैं, क्या कांग्रेस को बागियों वाली सीट पर दमदार जिताऊ उम्मीदवार नहीं सूझ रहे हैं। शायद किसी ने ठीक ही कहा है सियासत में न कोई दोस्त होता है न दुश्मन।

From around the web