उत्तराखंड | फौजी क्वार्टरों में चोरी करता था पूर्व फौजी का बेटा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) राजधानी देहरादून से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसके मुताबिक यहां पुलिस ने पूर्व फौजी के बेटे को कैंट के फौजी क्वार्टरों में चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बताया गया कि उसने तीन चोरियां की जिसका माल बरामद कर लिया गया है। उसके खिलाफ क्लेमेंटटाउन और कैंट कोतवाली
 
उत्तराखंड | फौजी क्वार्टरों में चोरी करता था पूर्व फौजी का बेटा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) राजधानी देहरादून से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसके मुताबिक यहां पुलिस ने पूर्व फौजी के बेटे को कैंट के फौजी क्वार्टरों में चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

बताया गया कि उसने तीन चोरियां की जिसका माल बरामद कर लिया गया है। उसके खिलाफ क्लेमेंटटाउन और कैंट कोतवाली क्षेत्र में करीब 18 मुकदमे दर्ज हैं। इनमें से 11 मुकदमे चोरी के हैं।

बताया गया कि कैंट क्षेत्र में फौजी क्वार्टरों में चोरी की घटनाओं के बाद पुलिस की टीम गठित की गई थी। सीसीटीवी फुटेज की जांच के साथ पुराने चोरों का सत्यापन कराया गया। इसी बीच जानकारी मिली कि घटना के दिन फौजी क्वार्टरों में संतोष रावत निवासी नई बस्ती क्लेमेंटाउन की मौजूदगी देखी गई।

उत्तराखंड | फौजी क्वार्टरों में चोरी करता था पूर्व फौजी का बेटा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इसके बाद बुधवार को महिंद्रा ग्राउंड के पास से आरोपी संतोष को पकड़ा गया। आरोपी से सोने का हार, मंगलसूत्र, अंगूठी, मांग टीका, नथ, कान के झालर, झुमके, कान के कुंडल, पायल और तीन हजार रुपये की नगदी बरामद हुई। घटना में प्रयुक्त मोटर साइकिल भी मिल गई है। बताया गया कि आरोपी पहले भी जेल जा चुका है। नशे की लत पूरी करने को आरोपी चोरी करता था।

बताया गया कि आरोपी संतोष के पिता सेना में रहे हैं और वह आर्मी क्वार्टर में रह चुका है। संतोष को पता था कि दिन में महिलाएं अपने बच्चों को लेने स्कूल चली जाती हैं। उस समय क्वार्टर में कोई नहीं रहता है। इसी वक्त आरोपी घर में घुसकर नगदी और जेवरात से हाथ साफ करता था। यदि कोई आर्मी मैन उसे टोकता था तो वह अपने पिता के नाम की आड़ ले लेता था। इस कारण कोई शक भी नहीं करता था।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

 Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

From around the web