दूरदर्शन महानिदेशालय ने इन आठ रिले केंद्रों को बंद करने का लिया फैसला

57

अल्मोड़ा(उत्तराखंड पोस्ट) दूरदर्शन महानिदेशालय ने 16 नवंबर से कुमाऊं के सात स्थानों और चमोली जिले के थराली में स्थित दूरदर्शन रिले केंद्रों को बंद करने का फैसला कर लिया है। नैनीताल जिले के दो केंद्र हाल ही में बंद किए जा चुके हैं। इसके बाद क्षेत्र में दूरदर्शन के चैनल एंटिना के जरिये उपलब्ध नहीं होंगे और लोग सिर्फ डीटीएच के जरिये ही दूरदर्शन के कार्यक्रम देख सकेंगे।

मैदानी इलाकों में रहने वाले अधिकांश लोगों ने अपने टीवी केबल और डीटीएच से जोड़ दिए हैं। हालांकि दूरस्थ पहाड़ी इलाकों में रहने वाले लोग आज भी एंटिना के जरिये ही दूरदर्शन के कार्यक्रम देखते हैं। बताया गया है कि हाल में किए गए सर्वेक्षणों के बाद नई दिल्ली स्थित दूरदर्शन महानिदेशालय ने देश के पहाड़ी इलाकों में स्थित दूरदर्शन रिले केंद्रों को बंद करने का फैसला लिया है।  दूरदर्शन अनुरक्षण केंद्र अल्मोड़ा के अभियंता आडी शर्मा ने बताया कि 16 नवंबर से अल्मोड़ा अनुरक्षण केंद्र के अंतर्गत स्थित अल्मोड़ा, बागेश्वर, कौसानी, डीडीहाट, मानेश्वर (देवीधूरा), धारचूला, मुनस्यारी और थराली (चमोली) के रिले केंद्र बंद कर दिए जाएंगे।

इसके बाद इस इलाके में सिर्फ देवाल (चमोली) में ही एक केंद्र चालू रह जाएगा। उसके बाद दूरदर्शन के सभी चैनल डीटीएच के माध्यम से निशुल्क देखे जा सकते हैं। गढ़वाल मंडल के 21 रिले केंद्र भी बंद किए जा रहे हैं।  सर्वेक्षणों से यह पता लगा है कि अब गिने-चुने लोग ही एंटिना के जरिये दूरदर्शन के कार्यक्रम देखते हैं जिससे महानिदेशालय ने 15 साल से अधिक पुराने दूरदर्शन रिले केंद्रों को बंद करने के आदेश दिए हैं। अब इन रिले केंद्रों में आगे क्या होगा इस बारे में महानिदेशालय स्तर से ही फैसला होगा।

(उत्तराखंडपोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)