जन्म लेते ही उठा मां का साया, न्यायाधीश ने कराया स्तनपान और ले लिया गोद

660

गांधीनगर (उत्तराखंड पोस्ट) गुजरात के आणंद के जिला विकास अधिकारी अमित प्रकाश यादव और उनकी न्यायाधीश पत्नी चित्रा ने दुनिया के सामने मिसाल पेश करते हुए नवजात बच्ची को गोद लिया है जिसने जन्म लेते ही मां का साया खो दिया।

जानकारी के मुताबिक आणंद के पास स्थित वासद गांव के आरोग्य केंद्र अस्पताल में एक महिला ने अपनी तीसरी बेटी को जन्म देने के बाद दम तोड़ दिया था। नवजात अपनी मां का स्तनपान भी नहीं कर पाई थी। बच्ची की मां की मौत के बाद बच्ची के पिता दुखी थे। उनको इस बात की चिंता सताने लगी कि दो बेटी पहले से हैं और अब तीसरी बेटी का पालन-पोषण कैसे होगा? वो अपनी नवजात बच्ची के भविष्य को लेकर चिंतित थे।

घटना की जानकारी मिलने पर जिला विकास अधिकारी अमित प्रकाश अस्पताल पहुंचे। पूरी घटना को जानने के बाद नवजात बच्ची को देख उनका दिल पसीज गया। उन्होंने इस घटना की पूरी जानकारी अपनी पत्नी चित्रा को दी। इसके बाद दोनों फिर अस्पताल पहुंचे, जहां चित्रा ने बच्ची को स्तनपान कराया।

इसके बाद नवजात के परिवार की हालत को देखते हुए अमित प्रकाश यादव और उनकी पत्नी चित्रा ने बच्ची को अपनाने का फैसला ले लिया। इसके बाद बच्ची के पिता और परिवार की सहमति से दोनों ने नवजात को गोद ले लिया। बच्ची का जन्म मही नदी के किनारे स्थित वासद गांव के अस्पताल में हुआ था, जिसके चलते बच्ची का नाम ‘माही’ रखा दिया। आपको बता दें कि अमित प्रकाश यादव और चित्रा का डेढ़ साल का बेटा भी है।

youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost