हरीश रावत का मोदी पर पलटवार, कहा- विजय बहुगुणा से पूछिए, UPA से नहीं !

1993

नई दिल्ली [उत्तराखंड पोस्ट ब्यूरो] प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ में भाषण के बाद इस पर राजनीति गर्मा गई है।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि 2013 की त्रासदी में किसी तरह के मदद की पेशकश गुजरात सीएम के तरफ़ से नहीं आई थी। रावत ने कहा कि केदारनाथ शिव की धरती है, आज मोदी ने राजनीति के लिए इस्तेमाल किया।

उन्होंने कहा कि त्रासदी के समय सीएम रहे विजय बहुगुणा ने अगर उनकी मदद नहीं ली थी तो उनकी इंटर्नल जांच करवा लें, वह अब बीजेपी में ही हैं।

शुक्रवार को केदारनाथ में प्रधानमंत्री ने केदारनाथ में कहा कि वह 2013 में भी केदारनाथ का पुनर्निर्माण करना चाहते थे लेकिन कांग्रेस ने इसे रोक दिया। उन्होंने कहा कि 2013 में केदारनाथ में आई आपदा की पीड़ा उनसे सहन नहीं हुई और इसीलिए बतौर गुजरात के मुख्यमंत्री यह इच्छा जाहिर की थी कि उन्हें केदारनाथ में पुनर्निर्माण का काम सौंपा जाए। बकौल मोदी तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा इसके लिए तैयार भी हो गए थे लेकिन केंद्र सरकार के इशारे पर उन्हें मना कर दिया गया।

 

केदारनाथ में मोदी ने देशवासियों के सामने बासी माल परोसा : हरीश रावत

वीडियो – पुर्ननिर्माण के बाद ऐसा दिखाई देगा केदारनाथ धाम

काला चश्मा-नीला कुर्ता-गले में रुद्राक्ष, देखिए ‘शिवभक्त’ मोदी का अंदाज