संसद में अजय भट्ट के बयान पर हरीश रावत ने ली चटकी, मुख्यमंत्री को दी ये सलाह

264

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) लोकसभा में नैनीताल सीट से बीजेपी सांसद अजय भट्ट के सिजेरियन डिलिवरी पर दिए बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने चुटकी ली है।

हरीश रावत ने कहा कि उत्तराखंड से बीजेपी सांसद ने संसद में एक बड़ा नायाब नुस्खा बताया है कि गरुड़गंगा के पत्थरों को वहां के पानी में घिसकर पिलाने से प्रसव पीड़ा नहीं होती है और सरलता से प्रसव हो जाते हैं।

रावत ने आगे कहा कि मैं समझता हूं कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को इस सुझाव को लपक लेना चाहिए और बजाय ये हिलटॉप-हिलटॉप के जो है आप गरुड़गंगा पर बॉटलिंग प्लांट लगाकर उसके पानी को मेडिसिन के तौर पर हर हॉस्पिटल में रखा जाना चाहिए बल्कि हमारी हर दाई मां, हर एएनएम और हर आशा तक पहुंचा देना चाहिए फिर ये 108 का भी झंझट नहीं रहेगा और खुशियों की सवारी का झंझट भी नहीं रहेगा। पैसा भी बचेगा और लोगों को राहत भी मिल जायेगी।

हरीश रावत ने फिर चुटकी ली और कहा कि वाह क्या नायाब दवा तजबीज की है, बधाई देना चाहेंगे तो मुझे भी अपने साथ सम्मिलित कर लीजिये।

क्या कहा था अजय भट्ट ने ? | आपको बता दें कि होम्योपैथी केंद्रीय परिषद संशोधन विधेयक 2019 पर चर्चा के दौरान अजय भट्ट  ने लोकसभा में कहा कि जोशीमठ रूट पर पड़ने वाली गरुड़ गंगा के पत्थर को रगड़ कर एक कप पानी के साथ प्रेगनेंट महिला पी ले तो डिलिवरी नॉर्मल होती है। उन्होंने इसे चमत्कार बताया और यह भी दावा किया कि अगर सांप-बिच्छू के काटने पर कोई उसका पत्थर घिसकर उसका लेप लगा ले तो ज़हर का असर खत्म हो जाता है।

Youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                              

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost