हरीश रावत ने ईवीएम पर फोड़ा हार का ठीकरा, कहा- मोदी है तो ईवीएम टैंपरिंग भी संभव है

रुद्रपुर (उत्तराखंड पोस्ट) नैनीताल-लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा है। उन्होंने मीडिया के समक्ष ईवीएम पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि देश में मोदी है तो ईवीएम टैंपरिंग भी संभव है।

गुरुवार को सुबह आठ बजे बगवाड़ा मंडी स्थित मतगणना स्थल पर जिले की सभी नौ विधानसभाओं के वोटों की गिनती शुरू हुई। मतगणना की शुरुआत होने के बाद करीब 9: 45 बजे कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी पहुंच गए। उन्होंने करीब 11 बजे तक मतगणना स्थल पर ही रुझान जाने और फिर भाजपा की निरंतर बढ़त को देखते हुए वहां से चले आए।

मंडी गेट पर रावत ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि कांग्रेस के कुछ परंपरागत वोट वाली जगहों पर भी भाजपा को ही एकतरफा वोट पड़ा है। इससे कई गंभीर संदेह पैदा हो गए हैं। जब हमने देश में मोबाइल की शुरुआत की थी, तब मोबाइल फोन मोटे हुआ करते थे और अब मोबाइल स्लीम होने के साथ ही घड़ी में भी आ रहा है। जब टेक्नोलॉजी में बदलाव संभव है तो ईवीएम भी तो एक टेक्नोलॉजी आधारित मशीन है। उसमें बदलाव क्यों नहीं हो सकता।

रावत ने साथ ही कहा कि पूरे देश में भाजपा की बढ़त से लगता है कि राजनीतिक दलों की ओर से जो डर और संदेह प्रकट किया जा रहा था, वह सही साबित होगा। यह मतगणना के निर्णर्यों पर दिखाई भी दे रहा है। ईवीएम टेक्नोलॉजी को टैंपर किया जा सकता है। हम किसी पर निशाना नहीं साध रहे, वास्तविकता को कह रहे हैं।