इमरान खान को भारत का करारा जवाब, कहा- आतंकियों को पेंशन देती है पाकिस्तान सरकार

न्यूयार्क (उत्तराखंड पोस्ट) भारत ने आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को करारा जवाब दिया। संयुक्त राष्ट्र (यूएन) में भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने ‘राइट टू रिप्लाई’ के तहत इमरान खान के भड़काऊ बयान का जवाब दिया। विदिशा ने कहा कि इमरान खान ने जो कुछ भी कश्मीर को लेकर कहा वह झूठ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भड़काऊ बयान दिया।

विदिशा मैत्रा ने कहा, ”क्या पाकिस्तान यह स्वीकार करेगा कि यह (पाकिस्तान) दुनिया की एकमात्र सरकार है जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित अल-कायदा और अन्य आतंकियों को पेंशन देती है?” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने यूएन के मंच का दुरुपयोग किया और गुमराह करने की कोशिश की। मैत्रा ने कहा कि पाकिस्तान ने खुलेआम आतंकी ओसामा बिन लादेन का बचाव किया था।

मैत्रा ने आगे कहा, ”पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों की स्थिति बदतर है और उनपर जुल्म हो रहे हैं। 1947 की तुलना में आज कुछ फीसदी भर अल्पसंख्यक बचे हैं।”

भारत ने पाकिस्तान से पूछे ये 5 सवाल

● क्या पाकिस्तान इस तथ्य की पुष्टि कर सकता है कि यह संयुक्त राष्ट्र द्वारा सूचीबद्ध 130 आतंकवादियों और 25 आतंकवादी संस्थाओं का पनाहगाह आज भी है.?
● क्या पाकिस्तान यह स्वीकार करेगा कि वह दुनिया की एकमात्र सरकार है जो संयुक्त राष्ट्र की प्रतिबंध सूची में शामिल अल कायदा और दाएश को पेंशन प्रदान करती है?
● क्या पाकिस्तान समझा सकता है कि आतंकी फंडिंग को लेकर लाखों डॉलर का जुर्माना लगाने के बाद, उसे प्रमुख हबीब बैंक को बंद क्यों करनी पड़ी?
● पाकिस्तान को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स ने 27 प्रमुख मापदंडों में से 20 से अधिक के उल्लंघन के मामले में नोटिस दिया. क्या इसे वह झुठला देगा?
● क्या प्राइम मिनिस्टर इमरान खान न्यूयॉर्क में इससे इनकार करेंगे कि वह ओसामा बिन लादेन के रक्षक थे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here