#INDvsAUS T-20 | भारत ने किया क्लीन स्वीप, T-20 में नंबर वन बनी टीम इंडिया

INDIAसिडनी टी-20 में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराकर भारत ने ना सिर्फ 3 मैचों की सीरीज में क्लीन स्वीप कर लिया है बल्कि वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया से 4-1 से मिली हार का भी बदला पूरा कर लिया है। ऑस्ट्रेलिया पर जीत के साथ ही भारतीय टीम आईसीसी टी-20 रैंकिग में 120 प्वाइंट्स के साथ नंबर एक की पोजिशन पर भी पहुंच गया है। 124 रनों की शानदारी पारी के लिए ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉटसन को ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया तो सीरीज में शानदार बल्लेबाजी के लिए विराट कोहली को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया।

मैच में भारत की ओर से शिखर धवन और रोहित शर्मा की सलामी जोड़ी ने तेज शुरुआत की। 46 के स्कोर पर भारत को पहला झटका लगा जब शिखर धवन 9 गेंदों में 26 रन बनाकर शेन वॉटसन का शिकार बने। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे इन फार्म बल्लेबाज विराट कोहली ने रोहित शर्मा के साथ मिलकर स्कोर को उसी रफ्तार में आगे बढ़ाया, जहां पर शिखर छोड़ कर गए थे। रोहित ने 36 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन अर्धशतक पूरा करते ही रोहत शर्मा 52 रनों के स्कोर पर आउट हो गए। इसके तुरंत बाद विराट कोहली भी 366 गेंदों में 50 रन बनाकर आउट हो गए। अब भारत को जीत की दहलीज पर ले जाने की जिम्मेदारी सुरैश रैना और युवराज सिंह के कंधों पर थी। युवराज और रैना ने संभलकर खेलना शुरु किया। आखिरी ओवर में भारत को जीत के लिए 17 रन चाहिए थे। लक्ष्य मुश्किल था और सामने थे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज ए टाई। युवराज ने पहली गेंद में चौका जड़ा और दूसरी गेंद में छक्का। युवराज के दो बड़े शॉट से जीत भारत लगभग भारत की मुट्ठी में आ चुकी थी। आखिरी गेंद में भारत को जीत के लिए दो रन की दरकार थी और रैना ने चौका जड़कर जीत भारत की झोली में डाल दी। युवराज सिंह ने 12 गेंदों में नाबाद 15 रन बनाए तो रैना ने 25 गेंदों में 49 रन बनाकर नाबाद रहे।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया ने शेन वॉटसन के 71 गेंदों में शानदार 124 रनों की बदौलत 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 197 रनों का बड़ा स्कोर बनाते हुए भारत को जीत के लिए 198 रनों का लक्ष्य दिया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से वॉटसन के अलावा कोई बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सका। शेन वॉटसन ने दो जीवनदान का फायदा उठाते हुए 60 गेंदों में अपना शतक पूरा किया। इसके साथ वे टी-20 में शतक बनाने वाले दूसरे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बन गए। कप्तान के रूप में टी-20 में यह सबसे बड़ी पारी है। वहीं भारत की ओर से नेहरा, बुमराह, अश्विन, जडेजा और युवराज सिंह ने एक-एक विकेट लिया।