शहादत को सलाम | मेजर चित्रेश को शादी के लिए छुट्टी लेने को कह रहे थे पिता, मगर फर्ज को चुना पहले

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) बीते शनिवार को जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में एक बारूदी सुरंग विस्फोट में देहरादून के मेजर चित्रेश सिंह बिष्‍ट शहीद हो गए। मेजर चित्रेश सिंह बिष्ट एक बम निरोधक दस्ते की अगुवाई कर रहे थे। मेजर बिष्‍ट की 19 दिन बाद यानी सात मार्च को शादी थी और वेडिंग कार्ड भी बंट चुके थे।

बताया गया कि मेजर बिष्‍ट के पिता एसएस बिष्‍ट उन्‍हें बार-बार शादी की तैयारियों के लिए छुट्टी लेकर आने को कह रहे थे लेकिन उन्‍होंने अपने फर्ज को ज्यादा तवज्‍जो दी। परिवार के मुताबिक मेजर बिष्‍ट ने अब तक 25 बम डिफ्यूज किए थे। वह पढ़ाई में बहुत होनहार थे। मेजर रैंक के लिए हुई परीक्षा में नौवां स्‍थान हासिल किया था।

बताया गया कि दोपहर करीब तीन बजे नौशेरा सेक्टर में ट्रैक पर बारूदी सुरंग का पता चला। मेजर बिष्‍ट के नेतृत्‍व में बम निरोधक दस्ते ने एक बारूदी सुरंग को सफलतापूर्वक निष्क्रिय कर दिया लेकिन जब वे दूसरी सुरंग को निष्किय कर रहे थे तो उसमें विस्फोट हो गया। इसमें मेजर शहीद हो गए। मेजर बिष्‍ट भारतीय सैन्‍य अकैडमी देहरादून से 2010 में पासआउट हुए थे। वर्तमान समय में वह सेना की इंजिनियरिंग कोर में तैनात थे। उनके पिता एसएस बिष्‍ट उत्‍तराखंड पुलिस में थे

Follow us on twitter –https://twitter.com/uttarakhandpost

Like our Facebook Page – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/