मशहूर संगीतकार खय्याम हाशमी का 92 साल की उम्र में निधन

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) ‘उमराव जान’, ‘बाज़ार’, ‘कभी-कभी’, ‘नूरी’, ‘त्रिशूल’ जैसी हिट फिल्मों के गीतों की धुन बनाने वाले मशहूर संगीतकार मोहम्मद जहुर खय्याम हाशमी का 92 साल की उम्र में निधन हो गया। वे लंबे वक्त से बीमार चल रहे थे। उन्होंने मुंबई के एक अस्पताल में आखिरी सांस ली।

सीने में संक्रमण और न्यूमोनिया की शिकायत के बाद उन्हें पिछले महीने 28 जुलाई को मुंबई के सुजय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके निधन से बॉलीवुड में शोक की लहर है।

खय्याम का जन्म 18 फरवरी, 1927 को पंजाब में हुआ था। उनके जीवन के बारे में बात करें तो खय्याम ने अपने म्यूजिक करियर की शुरुआत लुधियाना में 1943 में 17 वर्ष की आयु में की थी। साल 1953 में फुटपाथ फिल्म से उन्होंने अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की। साल 1961 में आई फिल्म शोला और शबनम में संगीत देकर खय्याम साहब को पहचान मिलनी शुरू हुई। आखिरी खत, कभी-कभी, त्रिशूल, नूरी, बाजार, उमराव जान और यात्रा जैसी फिल्मों में धुनें दीं।

उन्हें साल 2007 में संगीत नाटक एकेडमी अवॉर्ड और साल साल 2011 में पद्म भूषण जैसे सम्मानों से नवाजा गया। कभी-कभी और उमराव जान के लिए उन्हें फिल्मफेयर अवॉर्ड और उमराव जान के लिए नेशनल अवॉर्ड भी मिला।

youtube Videos– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

Follow Twitter Handle– https://twitter.com/uttarakhandpost                 

Like Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost