NGT की टीम करेगी आग के बाद वायु प्रदूषण की स्थिति की जांच

364

fire-forestहल्द्वानी में गौला नदी में चल रहे अवैध खनन से जुड़ी एक याचिका नेशनल ग्रीन ट्रीब्यूनल (एनजीटी) में दायर है। इसी के चलते एनजीटी की टीम को छह व सात मई को गौला नदी में चल रहे खनन कार्य का निरीक्षण करना था। पर जंगलों में लगी आग के कारण टीम ने यह दौरा टाल गया। अब टीम 20 मई को आएगी।

डीएफओ तराई पूर्वी डॉ. पराग मधुकर धकाते ने बताया कि जंगलों में लगी आग पर पूर्व में एनजीटी ने जवाब मांगा था। इस संबंध में राज्य स्तर पर भी एक रिपोर्ट तैयार की जा रही है। एनजीटी की जो टीम गौला खनन का निरीक्षण करने आ रही थी, वह अब जंगल की आग के बाद वायु प्रदूषण की स्थिति की भी जांच करेगी।

टीम में कई विशेषज्ञ भी मौजूद रहेंगे। जो क्षेत्र में वायु प्रदूषण के आंकड़ों का अध्ययन करेंगे। वहीं गौला में वार्षिक खनन लक्ष्य बढ़ाने व मौजूदा हालात का भी निरीक्षण टीम को करना है। जिसके बाद ही गौला में खनन का मौजूदा लक्ष्य बढ़ाने पर निर्णय हो पाएगा।