रोहित शेखर हत्याकांड | इन तीन लोगों पर शक की सुई, इन्हें पुलिस की क्लीन चिट

666

नई दिल्ली (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री रहे दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत के मामले में दिल्ली पुलिस जल्द ही बड़ा खुलासा कर सकती है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शक की सुई तीन लोगों के इर्द गिर्द घूम रही है. इनमें रोहित की पत्नी अपूर्वा, उसके बाद घर के ड्राइवर अखिलेश ओर उसके बाद घर का नौकर गोलू पर पुलिस नजर बनाए हुए है।

सूत्रों के अनुसार घटना वाले दिन घर मे कुल 6 लोग थे, जिसमें पलिस ने तीन रोहित के भाई सिद्धार्थ शर्मा, घर के नौकर गोलू की पत्नी, एक और नौकरानी को क्लीन चिट दिया है।

पुलिस की मानें तो ड्राइवर अखिलेश फर्स्ट फ्लोर पर ही रहता था, जिस फ्लोर पर रोहित शेखर रहता था। फर्स्ट फ्लोर पर तीन कमरे हैं। एक में रोहित शेखर दूसरे कमरे में पत्नी अपूर्वा और तीसरे कमरे में अखिलेश। वहीं नौकर गोलू और उसका परिवार दूसरे फ्लोर पर रहते थे। रोहित का भाई सिद्धार्थ ग्राउंड फ्लोर में रहता था।

सीसीटीवी फुटेज में सिद्धार्थ के खिलाफ कोई भी सबूत नहीं मिला है। पुलिस को कॉल डिटेल्स के जरिये ये जानकारी मिली है कि रोहित ने मौत के अगले दिन सुबह 6 बजे पत्नी अपूर्वा से बात की थी।

पुलिस सूत्रों की मानें तो रोहित ओर अपूर्वा अलग अलग कमरे में रहते थे, जिस दिन रोहित की मौत हुई उस रात 12 बजे के बाद अपूर्वा रोहित के कमरे में गयी थी। अपूर्वा ने पूछताछ में बताया है कि उस दिन रोहित ओर उसके बीच फिजिकल रिलेशन बने थे। उसके बाद वो अपने कमरे में चली गई थी।

पुलिस सूत्रों की मानें तो जांच में एक बात भी सामने आयी है। रोहित के गले पर निशान था. लेकिन लोकल पुलिस ने उसे नज़रअंदाज़ कर दिया। फिलहाल पुलिस कुछ साइंटिफिक रिपोर्ट का इंतजार कर रही है, जिसके आधार पर जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार करेगी।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करेंhttp://www.youtub.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/