दक्षिण कोरिया ने ऐसे जीती कोरोना से जंग, दूसरे देश भी ले रहे हैं सलाह

 नई दिल्ली(उत्तराखंड पोस्ट) देश कोरोना वायरस की वजह से मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है ।इससे बचाव के लिए पूरे देश में लॉकडाउन किया गया है ।वहीं, दक्षिण कोरिया एक ऐसे देश के रूप में उभरा है जो कोरोना को भले ही पूरी तरह से खत्म न कर पाया हो, लेकिन उसे काफी हद तक नियंत्रित करने में कामयाब रहा है।

बता दें कि कोरोना वायरस से दक्षिण कोरिया में एक दिन में 500 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे थे। लेकिन कुछ दिन में ही वहां संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी आने लगी। अब वहां नए मामले दो अंक तक ही सिमट कर रह गए हैं। दक्षिण कोरिया देश को लॉकडाउन किए बिना ही कोरोना को काफी हद तक नियंत्रित करने में कामयाब रहा है।दक्षिण कोरिया के प्रधानमंत्री चुंग सी-क्युन ने विदेशी मीडिया से बातचीत में बताया कि किन तरीकों से उन्होंने देश में कोरोना को कमजोर कर दिया। दक्षिण कोरिया के प्रयास की मेडिकल जगत ने भी काफी तारीफ की है। कनाडा, सऊदी अरब, स्पेन और अमेरिका ने कोरिया मॉडल पर राष्ट्रपति मून जाए-इन से सुझाव के लिए संपर्क भी किया है

कोरोना वायरस के संक्रमित मरीजों के मामले में फरवरी के आखिर में दक्षिण कोरिया चीन के बाद दूसरे पायदान पर पहुंच गया था। 29 फरवरी को 24 घंटे के भीतर वहां 909 नए मामले सामने आए। लेकिन अब वहां दो अंकों में ही नए मामले सामने आ रहे हैं। कोरिया अब सबसे अधिक संक्रमित 10 देशों में सबसे नीचे है। पीएम चुंग ने कहा, हम क्रिटिकल स्टेज से बाहर निकल चुके हैं। नए केस की संख्या में कमी आई है। अब हम ऐसी स्थिति में हैं जहां स्थिति को नियंत्रित कर सकते हैं।पीएम चुंग ने कहा कि हम कोरोना से निपटने के लिए लॉकडाउन की जगह हर दूसरे संभव प्रयास कर रहे हैं। जो तरीका हमने अपनाया उससे हमें भरोसा है कि हम कोविड-19 से जंग लड़ने में सफल रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय समुदाय अब हमारे इस प्रयास को देखेगा। हमने तेजी, पारदर्शिता, इनोवेशन और जनभागीदारी पर ध्यान दिया।

कोरिया ने पहले 10 हजार लोगों का रोज टेस्ट किया और अब 20,000 लोगों का कर रहा है। अब तक 3,76,961 लोगों की टेस्टिंग हो चुकी है नियमित रूप से दो प्रेस कॉन्फ्रेंस की जा रही हैं जिनमें जनता को सही बातें बताई जा रही हैं। जनभागीदारी पर जुंग ने कहा कि हमने आम लोगों के सहयोग से जंग जीती क्योंकि वे सोशल डिस्टेंसिंग, एकांतवास, बार-बार हाथ धोने और फेस मास्क पहनने पर ध्यान दे रहे थे। कोरिया के पीएम ने कहा कि अगर कोई देश उनकी मदद चाहेगा तो उन्हें खुशी होगी।

Youtube – http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost                                

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost