त्रिवेंद्र सरकार ने हमारी ये दो योजनाएं बंद कर दी, एक बार फिर से करें विचार: हरीश रावत

310

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री व नैनीताल-ऊधम सिंह नगर लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार हरीश रावत ने त्रिवेंद्र सिंह रावत पर उनके मुख्यमंत्री रहते हुए शुरु की गई दो योजनाओं को बंद करने का आरोप लगाया है। हरीश रावत ने साथ ही त्रिवेंद्र से ये अपील भी की है कि वे इन योजनाओं पर विचार करें और इन्हें दोबारा शुरु करें।

हरीश रावत ने इस बारे में कहा कि केदारनाथ के लिए हवाई सेवाएं हैं, वो महंगी तो हैं मगर कंपनियों के लिए काफी कमाऊ है। राज्य को उससे विशेष लाभ नहीं हो रहा है। हमने एक क्रॉस सब्सिडी पर आधारित योजना बनाई थी जिसके तहत हमने कहा था कि जो फर्स्ट बिडर होगा, वो केदारनाथ में हेलीकॉप्टर सेवाओं का संचालन भी करेगा और राज्य के प्रत्येक जनपद में जो हमने हेलीपैड बनाये हैं उनमें भी हेली सर्विसेज संचालित करेगा और हमारे पंतनगर, गोचर, चिन्यालीसौड़ और पिथौरागढ़ के बीच में फिक्स विंग्स सर्विसेज भी प्रारंभ करेगा।

रावत ने कहा कि इस निश्चय के तहत एक कंपनी आई और भी कंपनियां आई लेकिन वो लोएस्ट बिडर रहे। हमने उनकी बिड स्वीकृत कर ली और उसके आधार पर उनकी हवाई सेवाओं का औपचारिक उद्घाटन भी कर दिया। उसके तत्काल बाद सरकार में परिवर्तन आया और राज्य सरकार ने मेरा मानना है कि हेली सर्विसेज ऑपरेटर्स के दबाव में उस निविदा को कैंसिल कर दिया और लोगों से कहा कि अब #उड़ान चल रही है, हम उड़ान के तहत ये सेवाएं प्रारंभ करेंगे। मगर 2 साल से उड़ान उड़ नहीं पा रही है। पंतनगर और पिथौरागढ़ के बीच प्रारंभ की गई थी, वो एक मजाक बनकर के रह गई और लोगों के लिए सुरक्षा संबंधी चिंताएं और खड़ी कर दी।

हरीश रावत ने तर्क देते हुए कहा कि ये हमारी स्कीम क्रॉस सब्सिडाइज स्कीम थी जिसके अंदर वो कंपनी केदारनाथ से कमाती और उसके आधार पर सब्सिडी आधारित सेवाएं हमारे दूसरे सभी जनपदों को देती और साथ-साथ हमारे ये एयरफील्ड जो है, जो हवाई पट्टियां हैं, वो ऑपरेटिव हो जाती मगर सरकार ने सरकार बदलाव के साथ उस योजना को रद्द कर दिया। और अब लोगों को वो सुविधाएं जो मिल जानी चाहिए थी नहीं मिल पा रही है और केवल केदारनाथ के लिए एयर सर्विसेज ऑपरेट हो रही है और वो भी मनमाने दाम पर। एयर ऑपरेटर्स पैसा कमा रहे हैं मगर राज्य को सुविधाएं नहीं मिल रही है।

पूर्व सीएम ने आगे कहा कि मैं चाहता हूं कि मुख्यमंत्री फिर से हमारी योजना पर विचार करें और अपने नाम से ही सही इस योजना को प्रारंभ करें। इसके साथ हमने एक #हिमालय_दर्शन योजना भी प्रारंभ की थी जिसमें हेलीकॉप्टर से और स्टेट एयरक्राफ्ट से हम लोग जो बुकिंग करवाने वाले लोग थे, उनको हिमालय दर्शन करवाते थे। पहले साल बहुत कम लोगों ने उसमें रुचि जाहिर की लेकिन 5-7 साल के प्रयासों के बावजूद ये हमारे लिए बड़े आकर्षण का विषय बन जाता और राज्य के लोगों के लिए कमाई का भी और रोजगार का साधन भी बनता मगर राज्य सरकार ने सरकार परिवर्तन के साथ इस योजना को भी बंद कर दिया। मैं चाहता हूं इन दोनों योजनाओं पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी फिर से विचार करें।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें– http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करें –https://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost