विस अध्यक्ष ने ली उच्च स्तरीय बैठक, व्यवस्थाएं दुरुस्त रखने के निर्देश

Picture_11528 मार्च का दिन हरीश रावत सरकार के लिए अहम है। मुख्यमंत्री हरीश रावत को 28 मार्च को विधानभा में बहुमत सिद्ध करना है और 28 तारीख को ही यह तय होगा कि उत्तराखंड में कांग्रेस सरकार बनी रहेगी या फिर गिर जाएगी। 28 मार्च को विधानसभा के विशेष सत्र के मद्देनजर विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने उच्च स्तरीय बैठक ली। बैठक में सत्र के दौरान व्यवस्था बनाए रखने को लेकर चर्चा हुई। बैठक में फैसला लिया गया कि विधान सभा के अन्दर किसी भी व्यक्ति को विधान सभा परिसर के अन्दर वाहन के साथ प्रवेश अनुमन्य नही होगा। विधनसभा अध्यक्ष, मुख्यमंत्री, मंत्रियों व विधायकों के साथ ही सभी अधिकारियों के वाहन विधान सभा के मुख्य द्वार तक ही जा पाएंगे।

विधानसभा में प्रवेश विधान सभा सचिव द्वारा जारी विशेष पास से ही होगा। इससे पूर्व के सभी प्रकार के पास को 28 मार्च के लिए निरस्त कर दिया गया है। मीडिया के लिए भी केवल विशेष पास ही मान्य होगा। विधानसबा अध्यक्ष ने निर्देश दिए कि संबंधित विभाग, बिजली, पानी, चिकित्सा आदि की समुचित व्यवस्था करेंगे। साथ ही उन्होंने विधान सभा के आस-पास सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के भी निर्देश दिए। विधान सभा में कार्यरत सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रातः 9 बजे विधान परिसर में प्रवेश करने के निर्देश दिये गए है। वहीं विधान सभा मण्डप के अंदर मोबाइल पूर्ण रूप प्रतिबंधित रहेगा।

बैठक में मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह, प्रमुख सचिव गृह उमाकांत पंवार, प्रमुख सचिव विधायी जयेदव सिंह, पुलिस महानिदेशक बी.एस.सिद्दू, सचिव विधान सभा जगदीश चन्द्र, सचिव सूचना विनोद शर्मा, आयुक्त गढ़वाल सी.एस.नपलच्याल, एडीजी अनिल रतूड़ी, जिलाधिकारी देहरादून रविनाथ रामन आई.जी.संजय गुंज्याल आदि उपस्थित थे।