अच्छी ख़बर | उत्तराखंड में ‘खिलती कलियां’

CM Photo 03, dt.08 February, 2016बच्चों में कपोषण को रोकने के तहत मुख्यमंत्री हरीश रावत ने देहरादून के डालनवाला में ‘‘परवरिश’’ डे-केयर सेंटर का शुभारंभ किया। परवरिश डे-केयर सेंटर में 0-3 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को प्रतिदिन केंद्र में लाकर पोष्टिक आहार दिया जाएगा। सरकार हर जिले में ‘‘परवरिश’’ डे-केयर सेंटर स्थापित करेगी। खिलती कलियां योजना के तहत शुरु किए गए ‘‘परवरिश’’ डे-केयर सेंटर के जरिए आगामी 6 माह में सभी बच्चों को कुपोषण के दायरे से बाहर लाया जाएगा। इसके साथ- साथ प्रदेश में सरकार ‘गोद भराई योजना’ शुरु करने जा रही है, जिसमें गर्भवती होते ही महिलाओं का पंजीकरण किया जाएगा और उनकी लगातार ट्रेकिंग की जाएगी। गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार उपलब्ध करवाने और कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाने में इस योजना से मदद मिलेगी। इसी प्रकार ‘अन्न प्राशन योजना’ के तहत 6 माह का होने पर बच्चे को पहली बार अन्न ग्रहण कराने के लिए आंगनबाड़ी केंद्र पर लाया जाएगा और इसे उत्सवपूर्वक मनाया जाएगा।

CM Photo 04, dt.08 February, 2016‘‘परवरिश’’ डे-केयर सेंटर के शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि बच्चों व माताओं के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी सरकार की है। जन्म से लेकर वृद्धावस्था तक उम्र के हर पड़ाव पर सरकार किसी न किसी योजना को लेकर महिलाओं के साथ खड़ी है। समाज में परिवर्तन महिलाओं को बराबर का भागीदार बनाकर ही लाया जा सकता है। महिला सशक्तिकरण राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। रावत ने कहा कि बेटियां किसी से कमतर नहीं होती हैं। जिन माताओं के एक बेटी होने के बाद दूसरी संतान भी बेटी होती है, उन्हें सरकार सम्मानित करेगी। साथ ही कन्या शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए गौरा देवी कन्या धन योजना की सहायता राशि को  25 हजार से बढ़ाकर रुपये 50 हजार किया गया है।

CM Photo 01, dt.08 February, 2016मुख्यमंत्री रावत ने परवरिश डे-केयर सेंटर के शुभारम्भ के अवसर पर बुजुर्ग महिलाओं को टेक होम राशन व लगभग 100 महिलाओं को कन्या के जन्म पर नंदा देवी कन्या धन योजना के तहत एफडी वितरित कीं। इसके अलावा आंगनबाड़ी केंद्र को पानी के आरओ भी दिए गए।