उत्तराखंड | पिता किसान और बेटी बनी IAS ऑफिसर, नहीं ली कोई कोचिंग

चमोली (उत्तराखंड पोस्ट) कहते है अगर मन में कुछ पाने की लगन हो तो कहीं भी कैसे भी हालात में पढ़ाई कर सफलता पाई जा सकती है।ऐसा चमोली जिले के देवाल की रहने वाली प्रियंका ने कर दिखाया । प्रियंका ने सिविल सेवा परीक्षा में 257वीं रैंक हासिल की है। प्रियंका के पिता दीवान राम किसान
 
उत्तराखंड | पिता किसान और बेटी बनी IAS ऑफिसर, नहीं ली कोई कोचिंग

चमोली (उत्तराखंड पोस्ट) कहते है अगर मन में कुछ पाने की लगन हो तो कहीं भी कैसे भी हालात में पढ़ाई कर सफलता पाई जा सकती है।ऐसा चमोली जिले के देवाल की रहने वाली प्रियंका ने कर दिखाया ।

प्रियंका ने सिविल सेवा परीक्षा में 257वीं रैंक हासिल की है। प्रियंका के पिता दीवान राम किसान हैं और मां विमला देवी गृहिणी है।प्रियंका ने ट्यूशन पढ़ाते हुए खुद की पढ़ाई भी जारी राखी और यूपीएससी की परीक्षा में सफलता हांसिल की

विषम परिस्थितियों में पली-बढ़ी प्रियंका ने 12वीं तक की शिक्षा सरकारी स्कूल में की। इसके बाद गोपेश्वर स्थित राजकीय महाविद्यालय से स्नातक किया वह देहरादून में डीएवी कॉलेज से लॉ की पढ़ाई कर रही है। अभी वह फाइनल सेमिस्टर की छात्रा हैं।

प्रियंका के मामा जज हैं। प्रियंका का कहना है कि मामा ने ही उन्हें सिविल सेवा में जाने के लिए प्रोत्साहन किया है। प्रियंका एक भाई और तीन बहनों में सबसे बड़ी हैं।

उत्तराखंड के रोचक वीडियो के लिए हमारे Youtube चैनल को SUBSCRIBE जरुर करें–   http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost

Twitter– https://twitter.com/uttarakhandpost

Facebook Page– https://www.facebook.com/Uttrakhandpost

Instagram-https://www.instagram.com/postuttarakhand/          

From around the web