हरिद्वार में बाल-बाल बचे सिटी मजिस्ट्रेट, अतिक्रमण हटाते समय अचानक गिरी दीवार

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) हरिद्वार में सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह के नेतृत्व में ललतारौ पुल के पास मारवाड़ी धर्मशाला के सामने से अतिक्रमण हटाना शुरू किया। धर्मशाला के सामने दीवार को गिराने को जेसीबी का पंजा चला तो नीचे खड़े सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह के ऊपर आ गिरी। मनीष सिंह दीवार के मलबे की चपेट में आने
 

हरिद्वार (उत्तराखंड पोस्ट) हरिद्वार में सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह के नेतृत्व में ललतारौ पुल के पास मारवाड़ी धर्मशाला के सामने से अतिक्रमण हटाना शुरू किया। धर्मशाला के सामने दीवार को गिराने को जेसीबी का पंजा चला तो नीचे खड़े सिटी मजिस्ट्रेट मनीष सिंह के ऊपर आ गिरी।

मनीष सिंह दीवार के मलबे की चपेट में आने से बाल बाल बच गए। दीवार गिरते-गिरते बीच में से दो भागों में बंट गई। कुछ ईंट उनके पैर के बीचोंबीच आकर गिरी। इससे वहां पर भगदड़ मच गई। पुल से आगे व्यापारी नेता कैलाश केशवानी की दुकान के आगे लगी टीन की शो के साथ कई दुकानों के सामने से चिन्हित अतिक्रमण हटाया। और बिना अनुमति के लंगर चलाने वाले लखनऊ धर्मशाला के मैनेजर रामकुमार गुप्ता पर 2500 रुपये का नकद जुर्माना लगाया।

अतिक्रमण हटाने के दौरान सिटी मजिस्ट्रेट मनीष ने देखा कि ललतारौ पुल के नीचे होटल व्यवसायी ने दो जनरेटररखने के साथ अन्य सामान भी रखा हुआ था। जिन्हें जब्त कराने को सिटी मजिस्ट्रेट ने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिया।लेकिन तब वंहा कोई अधिकारी या कर्मचारी तक नगर निगम का मौजूद नहीं था। उन्होंने अधिकारियों को फोन करते हुए तत्काल आने को कहा। सामान जब्त कराने को सिटी मजिस्ट्रेट ने नगर निगम के अधिकारियों को फिर से फोन करते हुए न आने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। करीब 15 मिनट बाद एसएनए नुपूर वर्मा टीम के साथ पहुंची और सामान को अपने कब्जे में लिया।

(उत्तराखंडपोस्ट के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैंआप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

देशद्रोही निकला उत्तराखंड का ये शख्स, ब्रह्मोस की जानकारी पाकिस्तान को लीक करने का आरोप, एटीएस ने किया गिरफ्तार

From around the web