ज़ायका उत्तराखंड का : आलू के गुटके

1026

alu-ke-gutkeआलू के गुटके एक पारंपरिक कुमाऊंनी रेसिपी है जो बनाने में बेहद आसान है। मजेदार बात यह है कि इसे बनाने के लिए आपको ज्यादा सामग्री की जरूरत नहीं पड़ती। इस रेसिपी के लिए आपको सिर्फ उबले हुए आलू और रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाले मसालों की ही आवश्यकता है।

कुमाऊंनी लोग आलू के गुटके स्नेक्स के रूप में खाते हैं। कुमाऊं क्षेत्र के लगभग हर रेस्टोरेंट या चाय की दुकान में आपको आलू के गुटके जरूर मिल जाएंगे। उत्तराखंड के कुमाऊं में टी स्टाल या होटलों में आलू के गुटकों को खीरे या मूली के रायते के साथ परोसा जाता है। मूली का रायता और भुनी हुई सूखी मिर्च के साथ आलू के गुटके के स्वाद का क्या कहना। तो आज आप भी बनाइए आलू के गुटके

सामग्री –

  • उबले आलू – 5 मध्यम आकार
  • लाल मिर्च पाउडर – 1/4 टी स्पून
  • जीरा – 1 टी स्पून
  • हल्दी पाउडर – 1/2 टी स्पून
  • धनिया पाउडर – 1 टी स्पून
  • हींग – 1 चुटकी
  • नमक – स्वाद अनुसार
  • सरसों का तेल – 1 टेबल स्पून
  • साबुत लाल मिर्च – 3
  • कटा धनिया

गुटके बनाने की विधि –
आलू को छीलकर मध्यम आकार के टुकडों में काट लें।

लाल मिर्च, हल्दी, धनिया पाउडर और पानी का पेस्ट बनाएं और दस मिनट के लिए छोड़ दें।

कढ़ाई में तेल गर्म करें फिर उसमें हींग और जीरा डालें। जब ये कड़कने लगें तब इसमें लाल मिर्च, हल्दी, धनिया पाउडर का पेस्ट डालें और इसे कम आंच पर एक मिनट के लिए पकाएं।

अब इसमें कटे हुए आलू डाले और पेस्ट को उसमें अच्छी तरह मिलाएं, लेकिन ध्यान रहे आलू साबुत रहें।

अब एक दूसरे बर्तन में सरसों का तेल गर्म करें और साबुत लाल मिर्च को उसमें भूनें। इस तड़के को भुने हुए आलूओं में मिलाएं। अब आपकी डिश तैयार है। कटे हुए धनिए से सजाकर आलू के गुटके सर्व करें।