लोस चुनाव | त्रिवेंद्र और मंत्रियों की विधानसभा में गिरा मतदान प्रतिशत, क्या हैं मायने ?

464

देहरादून  (उत्तराखंड पोस्ट) लोकसभा चुनाव के लिए उत्तराखंड की पांचों सीटों पर 11 अप्रेल को मतदान हो चुका है और अब सभी को 23 मई का इंतजार है जब चुनावी नतीजे ईवीएम से बाहर आएंगे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत 2019 में भी 2014 के नतीजे दोहराने का दावा कर रहे हैं। इस बीच मतदान प्रतिशत के आंकड़े बता रहे हैं कि राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और उनके मंत्रियों की विधानसभा क्षेत्रों में मतदान प्रतिशत 2014 के मुकाबले ब़ढ़ने की बजाए गिर गया है। सिर्फ एक मंत्री धन सिंह रावत की विधानसभा में ही मतदान प्रतिशत मामूली रूप से बढ़ा है। नीचे देखिए मुख्यमंत्री और उनके मंत्रियों की विधानसभा में 2014 और 2019 में कितने फीसदी वोट पड़े।

S NO नाम विधानसभा क्षेत्र 2019 में मत प्रतिशत 2014 में मत प्रतिशत
1 त्रिवेंद्र सिंह रावत डोईवाला 66.23 67.20
2 प्रकाश पंत पिथौरागढ़ 53.17 53.24
3 हरक सिंह रावत कोटद्वार 61.46 64.07
4 सतपाल महाराज चौबट्टाखाल 43.53 45.54
5 यशपाल आर्य बाजपुर 72.27 72.56
6 सुबोध उनियाल नरेंद्र नगर 54.07 54.34
7 मदन कौशिक हरिद्वार 62.37 64.40
8 धन सिंह रावत श्रीनगर 53.01 52.03
9 रेखा आर्या सोमेश्वर 51.40 57.67

 

आपको बता दें कि 2014 के मुकाबले इस बार राज्य का ओवरऑल मतदान प्रतिशत करीब एक फीसदी गिरा है। 2014 में जहां 62.15 फीसदी मत पड़े थे तो वहीं 2019 में 61.50 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

बहरहाल मतदान प्रतिशत गिरने का चुनावी नतीजों पर कितना असर पड़ेगा ये तो 23 मई को ईवीएम खुलने पर ही पता चलेगा लेकिन अगर किसी भी सीट पर बीजेपी उम्मीदवार की करीबी अंतर से जीत-हार होती है तो जरुर ये पार्टी के लिए बड़े झटके के समान होगा।

हमारा Youtube  चैनल Subscribe करें http://www.youtube.com/c/UttarakhandPost 

हमें ट्विटर पर फॉलो करेंhttps://twitter.com/uttarakhandpost

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें – https://www.facebook.com/Uttrakhandpost/