चारधाम यात्रा से पहले धामी सरकार का बड़ा फैसला, पुलिस करेगी यह काम

  1. Home
  2. Char Dham Yatra

चारधाम यात्रा से पहले धामी सरकार का बड़ा फैसला, पुलिस करेगी यह काम

Dhami

उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के अक्षय तृतीया के पर्व पर तीन मई को कपाट खुलने के साथ ही इस वर्ष की चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। पिछले दो सालों से कोविड प्रतिबंधों के कारण लगभग बंद पड़ी चारधाम यात्रा में इस साल रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है ।


 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के अक्षय तृतीया के पर्व पर तीन मई को कपाट खुलने के साथ ही इस वर्ष की चारधाम यात्रा शुरू हो जाएगी। पिछले दो सालों से कोविड प्रतिबंधों के कारण लगभग बंद पड़ी चारधाम यात्रा में इस साल रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है ।

चारधाम यात्रा को लेकर सरकार तैयारियों में लगी हुई है। इस बीच CM धामी ने बड़ा कदम उठाया है। दरअसल, मंगलवार को मुख्यमंत्री ने कहा था कि चारधाम यात्रा के दौरान राज्य सरकार एक अभियान चलाकर यह सुनिश्चित करेगी कि बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों का उचित सत्यापन हो और खतरा पैदा करने की संभावना वाले तत्व राज्य में प्रवेश न कर सकें।

धामी ने कहा कि राज्य में शांति रहनी चाहिए तथा धर्म और संस्कृति बची रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार अपने स्तर से भी इस पर एक अभियान चलाएगी और हम कोशिश करेंगे कि बाहर से आने वाले लोगों का ठीक प्रकार से सत्यापन हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे लोग यहां न आ पाएं जिनके कारण राज्य में वातावरण खराब हो।

उत्तराखंड को एक शांतिप्रिय राज्य के साथ ही धर्म और संस्कृति का केंद्र बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां उपद्रवियों,अतिक्रमणकारियों और धार्मिक उन्माद फैलाने वालों के लिए कोई स्थान नहीं है।

अब उत्तराखंड में पुलिस ने प्रदेश में बाहर से आए लोगों के सत्यापन के लिए गुरुवार से सघन अभियान शुरू कर दिया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर अगले 10 दिनों के दौरान पुलिस उत्तराखंड में पिछले 10 सालों में बाहर से आए लोगों से जुड़ी जानकारी का सत्यापन करेगी।

इस संबंध में प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि बाहर से आने वाले लोगों का सत्यापन पहले भी किया जाता रहा है और कभी-कभी इसके लिए अभियान भी चलाया जाता है। उन्होंने कहा कि सत्यापन पहले भी होता रहा है। बाहरी तत्व जैसे कि ठेली वाले, मजदूर, नौकरी करने वाले और व्यापारी, जो यहां रहता है, उनके सत्यापन किये जाते हैं।

हालांकि, उन्होंने कहा कि इस बार यह सत्यापन 10 दिनों के लिए विशेष अभियान चलाकर किया जा रहा है जिससे चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले यह पूरा हो जाए। माना जा रहा है कि हरिद्वार जिले के डाडा जलालपुर गांव में हनुमान जयंती पर निकाली गयी शोभायात्रा पर पथराव के मददेनजर अगले माह शुरू हो रही चारधाम यात्रा के निर्विघ्न संचालन के लिए यह सत्यापन अभियान चलाया जा रहा है।