CM तीरथ के मंत्रिमंडल में शामिल हुए 11 विधायक, यहां जानिए उनके बारे में

उत्‍तराखंड में तीरथ स‍िंह रावत के कैब‍िनेट का व‍िस्‍तार हो गया है। कुल 11 मंत्रियों ने राजभवन में पद एवं गोपनियता की शपथ ली है। इन विधायकों के नाम  है- बंशीधर भगत, सतपाल महाराज, हरक सिंह, बिशन सिंह चुफाल, गणेश जोशी, अरविंद पांडेय, हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल, धन सिंह रावत, रेखा आर्या, यतीश्वरानंद।
 
CM तीरथ के मंत्रिमंडल में शामिल हुए 11 विधायक, यहां जानिए उनके बारे में
 

 

देहरादून (उत्तराखंड पोस्ट) उत्‍तराखंड में तीरथ स‍िंह रावत के कैब‍िनेट का व‍िस्‍तार हो गया है। कुल 11 मंत्रियों ने राजभवन में पद एवं गोपनियता की शपथ ली है। इन विधायकों के नाम  है- बंशीधर भगत, सतपाल महाराज, हरक सिंह, बिशन सिंह चुफाल, गणेश जोशी, अरविंद पांडेय, हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल, धन सिंह रावत, रेखा आर्या, यतीश्वरानंद।

नीचे जानिए CM तीरथ के  मंत्रिमंडल में शामिल हुए सभी 11 विधायको के बारे में-

बंशीधर भगत - छह बार के विधायक बंशीधर भगत इस समय बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष और नैनीताल की कालाढूंगी विधानसभा से विधायक हैं। भगत इससे पहले उत्तर-प्रदेश और फिर उत्तराखंड की पहली सरकार और बाद में खंडूरी सरकार में भी मंत्री रहे।

बिशन सिंह चुफाल - बिशन सिंह चुफाल पिथौरागढ़ की डीडीहाट सीट से विधायक हैं। पांच बार के विधायक चुफाल पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व की सरकारों में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं।

अरविंद पांडे - संघ पृष्ठभूमि के अरविंद पांडे बीजेपी के वरिष्ठ विधायक हैं। ऊधम सिंह नगर की गदरपुर सीट से विधायक अरविंद पांडे त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में शिक्षा और खेल मंत्री रहे।

हरक सिंह रावत - वर्तमान में कोटद्वार से विधायक हरक सिंह रावत साल 2017 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए। हरक सिंह पूर्व की कांग्रेस सरकारों में भी मंत्री रहे हैं। साथ ही त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में वन, श्रम के साथ ही आयुष विभाग के भी मंत्री रहे।

सुबोध उनियाल - टिहरी की नरेंद्र नगर सीट से विधायक सुबोध उनियाल साल 2017 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए। बीजेपी के जीतने वाले 57 विधायकों में से एक उनियाल भी थे। त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में वो कृषि मंत्री रह चुके हैं।

यशपाल आर्या - ऊधम सिंह नगर के बाजपुर से विधायक यशपाल आर्या कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे, लेकिन साल 2017 में कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हो गए। दलित पृष्ठभूमि से आने वाले यशपाल आर्या पूर्व में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही विधानसभा अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री भी रहे। बीजेपी में शामिल होने के बाद 2017 में बनी त्रिवेंद्र सिंह रावत के नेतृत्व वाली सरकार में उन्हें परिवहन और समाजकल्याण विभाग का मंत्री बनाया गया।

सतपाल महाराज - सतपाल महाराज उत्तराखंड के वरिष्ठ राजनेताओं में से एक हैं। साल 2014 में लोकसभा चुनावों से पहले ही सतपाल महाराज से कांग्रेस सांसद रहते हुए पार्टी छोड़ दी और बीजेपी में शामिल हो गए। महाराज इस समय पौड़ी की चौबट्टाखाल विधानसभा सीट से विधायक हैं और त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में सिंचाई और पर्यटन मंत्री रहे।

धन सिंह रावत - श्रीनगर से बीजेपी विधायक धन सिंह रावत राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से आए नेता हैं। बीजेपी में आने से पहले वो बीजेपी के संगठन महामंत्री रह चुके हैं। धन सिंह रावत त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार में राज्यमंत्री थे।

रेखा आर्या - कभी कांग्रेस में रहीं रेखा आर्या अल्मोड़ा की सोमेश्वर विधानसभा से विधायक हैं। त्रिवेंद्र सिंह सरकार में रेख आर्या पशुपालन और महिला कल्याण विभाग की राज्यमंत्री रहीं।

यतीश्वरानंद - स्वामी यतीश्वरानंद करनाल जिले के गांव कैमला के रहने वाले हैं। यतीश्वरानंद उत्तराखंड विधानसभा की हरिद्वार ग्रामीण सीट से लगातार दूसरी बार चुनाव जीते हैं।  उन्होंने उत्तराखंड के दिग्गज नेता एवं निवर्तमान सीएम हरीश रावत को 12997 मतों से हराया थ। 

गणेश जोशी - गणेश जोशी का जन्म 25 फरवरी, 1958 को एक सैनिक परिवार में हुआ। गढ़वाल राइफल रेजीमेंट में सेवा दे चुकें है। 2012 वे मसूरी निर्वाचन क्षेत्र से उत्तराखंड विधानसभा के लिए चुने गए। 2017 कांग्रेस पार्टी की गोदावरी थापली को 12,077 मतों के अंतर से हराकर वे मसूरी निर्वाचन क्षेत्र से उत्तराखंड विधानसभा के लिए चुने गए।

From around the web